मुस्लिम औरत ने यहूदी परिवार को बचाया, दुनियाभर में हो रही तारीफ़, यूजर्स बोले – HERO

पिछले दिनों लंदन की अंदर ग्राउंड ट्रैन में एक य’हूदी पिता और पुत्र के साथ एक व्यक्ति के द्वारा किए गए धा’र्मि”क दुर्व्य’वहा’र को रो’कने के लिए एक मुस्लिम महिला के जज्बे को दुनियाभर के लोग स’लाम कर रहे है। अक्सर, ऐसे वाक़ये हमें आज के दौर में कम ही सुनने को मिलते है। बहुत से लोग सफर में किसी भी मामले पर डिबेट करते हुए नजर आते है। आपस मे ल’ड़ा’ई तक भी हो जाती है। एक ऐसा ही मामला हमारे सामने भी आता है।

आइये तो शुरू करते है, इस मामले को विस्तार से बताते है। Daily Mail के अनुसार बताया गया है कि लन्दन में एक वीडियो वा’यर’ल हुआ। जिसमे अंदर ग्राउंड ट्रेन में सफर कर रहे एक य’हूदी पिता और पुत्र के साथ दु’र्व्यवहा’र किया गया। जिसमें एक मुस्लिम महिला ने उस व्यक्ति से बात की और बात को पूरा किया। वो व्यक्ति बाइ’बल निकालकर किसी यहू’दी वि’रो’धी हिस्से को पढ़’कर उन्हें प्र’ता’ड़ि’त करता और ध’मकि’यां दी रहा था।

लेकिन वो यात्री बच्चे के सामने बा’इबल को आगे कर जोर जोर से बात करना शुरू करता है। उस यात्री को ऐसा देखकर दूसरे लोग बीच ब’चाव करने की कोशिश करते है। वो यात्री उनलोगों को भी धम’कि’यां ओर गा’लि’यां देने शुरू कर देता है। तभी उस समय एक हि’जाब पहने मु’स्लिम महिला उस व्यक्ति को ऐसा करने से रोकती हुई नजर आती है। वो कहती है कि यहां पर बच्चे है, छोड़ो यह सब।

उस महिला का नाम अ’स्मा शेख बताया जा रहा। तब अस्मा उस व्यक्ति का हाथ पकड़कर कहती है कि मैं आपकी राय का सम्मान करती हूं। अकेली वो महिला उसको समझती हुई नजर आती है। अस्मा शेख का कहना है वो व्यक्ति शायद क’ट्ट’र ई’साई था। बहुत ज्यादा आ”क्र’म’क भी था। दो बच्चे की माँ होने के नाते मुझे पता है कि ऐसी हालत में बच्चों पर क्या बीतती है।

अस्मा ने कहा कि “सच कहूं तो मुझे लगा कि एक माँ के रूप में, एक मु’स’ल’मा’न के रूप में, इस देश के नागरिक के रूप में इस तरह की घटना को रोकना मेरा कर्तव्य है।” यह वीडियो वा’य’रल होने के बाद सभीलोगो ने अस्मा की प्रशंसा की ओर ऐसे “ज’ज्बे को स’लाम किया। अस्मा को लोग हीरो की तरह सम्मान दे रहे है। अस्मा ने कहा कि मैं इन लोगो के ज’ज्बे की क’द्र करती हूं ,आगे मौका मिलेगा तब भी मैं पीछे नही हटूंगी ।इस मामले को लेकर आसमा की पूरी दुनिया में तारीफ भी हो रही है ।

Leave a Comment