अजमेर दरगाह के दीवान ने देश के मुसलमानों को दिया खास संदेश, कहा- देश में कपड़ो से ज्यादा जब कफ़न बिक रहा हो तब …

सूफी संत हजरत ख्वा’जा मोइनु’द्दीन ह’सन चि’श्ती की द’रगाह के दी’वान सै’यद जे’नुअल आबेदीन अली खान ने अपने अनुयायि’यों को दिए सन्देश में कहा है कि जब नए कपड़ो से ज्यादा देश मे कफ’नबिक रहे है। हम कैसे खु’शिया मना सकते है।हमारी ईद की खुशि’यां के साथ उस दिनहोगी जब देश ओरदुनिया का हर इंसान खुश’हाल होकर को’रो’ना महा’मारी को हरा देगा।

इसकेसाथ ही उन्हीने ई’द को साद’गी से म’नाने की भी अ’पील की है।उनके द्वारा बयान में कहा गया है किदुनिया इस को’रो’ना बीमा’री से परेशा’न है। हर तरफ अफरा तफ’री का माहौल है। कोई न कोई अपने खास को खो चुका है। इसमें किस ने अपनी ब’हन को खो’या है तो किसी ने अपने पिता को,मा’ता को खो दिया है।

ajmer dargah

इस परेशानी के दौर में हम किसी भी त्यौहा’र को ख़ु’शी के साथ नही म’नाएंगे। ईद की नमा’ज के बाद हमारे हाथ दुआ के लिए उठे तो सि’र्फ यही दुआ जवान पर होना चाहिए कि दुनिया सेइस बी’मा’री का खत्मा हो।उन्होंने देश के सभी मु’स्किम नाग’रिमो से अपील की है कि आने वाली ईद को सा’दगी से मनाए।

को’ई भी खु’शी का इज’हत न करे।अपने घरों में ही इबा’दत को करे। ई’द की नमा’ज में ज्या’दा भी’ड़ को इ’कट्ठा नही करे। सर’कार की जो भी गाइ’डला’इन है उसका स’ख्ती से पालन करे। मा’स्क को ह’मेशा प’हने और सोश’ल डिस्टें’टिंग का पालब करे।

ajmer dargah

इस महा’मा’री से ब’चा’व और को’वि”ड प्रोटो’को’ल गा’इडलाइ’न की पाल’ना करके ही जीता जा सकता है। दिवा’न आ’बेदीन नेआगे कहा है कि भा’रत ही एक ऐसा देश है जहाँ पर सभी ध’र्मों के लोग एक साथ नजर आते है और मिल जु’लकर रहते है।

Leave a Comment