अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की छात्रा निगार फातिमा ने रचा इतिहास, बनी अफसर, पास की भारतीय सांख्यिकी सेवा परीक्षा

कहते है कि सफलता किसी की मोह’ताज न’ही होती है, इसके लिए सिर्फ जरूरत होती है तो सिर्फ मजबूत जज्बे की और कुछ कर दिखाने की। यही कुछ कर दिखाया है सीतापुर जनपद के बिसवा नगर के एक मु’स्लिम सामान्य परिवार की होनहार लड़की ने। उसने सिर्फ परीक्षा को ही पास न’ही किया है

बल्कि जनपद सहित अपने ग्रह नगर बिसवा सहित माता पिता और परिवार का नाम भी रोशन किया है। नगर वासियों के मुताबिक इस प्रकार की उपलब्धि को हासिल करने वाली वह बिसवा नगर की दूसरी लड़की ऑफिस भी बन गई है। बता दे कि निगार फ़ातिमा ने अपनी हाई स्कूल औरइंटर की पढ़ाई महमूदाबाद के सीता इंटर कॉलेज से करने के बाद आगे की।

amu girls students crack indian statistical service exam

पढ़ाई के लिए उसने अलीगढ़ यूनिवर्सिटी में एडमिशन किया। निगार फ़ातिमा ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि उसे यूनिवर्सिटी से ही ऑफिसर बनने की इच्छा हुई और हार न मानते हुए उन्हीने इस उपलब्धि को हासिल भी किया है। दो बार मे उत्तीण न होने पर उन्होंने हा’र न’ही मानी।

निगार फ़ातिमा ने साल 2020 की इंडियन स्टेटिस्टिकल सर्वसेज एग्जामिनेशन में देश में 23वी रैंक मिली है। उसकी इस सफलता से घर परिवार सहित रिश्तेदारों में खुशी का भी माहौल है। उनकी इस सफलता का श्रय वो अपने माता पिता

amu girls students crack indian statistical service exam

और अध्यापकों को देती है। निगार फ़ातिमा बहनों में सबसे छोटी है और उनके भाई से बड़ी है। उन्होंने कहा कि उनके मन मे शुरू से ही समाज की सेवा करने का मन था जो अब पूरा भी हो गया है।

Leave a Comment