भारत को 5 ऐसी ताकत दे गए मि’साइल मैन कलाम .. कि दुनिया के किसी भी मुल्क़ में भारत को आँख दिखाने की हिम्मत नहीं

देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम आजाद के नाम से भारत की नहीं पूरा विश्व वाकिफ़ है । कलाम को भारत का मि’साइल मैन कहा जाता है, मि’साइल मैन इसलिए क्योंकि उन्होंने देश के लिए स्वदेशी मि’साइल बनाकर देश को र’क्षा के क्षेत्र में ताकत दे गए है। भारत को बै’लेस्टिक मि’साइल और इसरो लॉन्चिंग व्हक़ील प्रोग्राम कलाम की ही देन माना है। डॉक्टर कलाम ने स्वदेशी गाइडेड मि’साइल को डिज़ाइन किया यानि उन्होंने भारत में ही बने कलपुर्जो से मि’साइल को बनाकर भारत का नाम अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष क्लब में रखा।

1982 में डॉक्टर अब्दुल कलाम को डी आर डी एल का निदेशक नियुक्त किया गया। कलाम ने डॉक्टर वीएस अरुणाचल के साथ इंट्रीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम का प्रस्ताव किया। इस प्रस्ताव के तहत ही उन्होंने ब्रह्मोस , पृथ्वी, अग्नि , त्रिशूल, आकाश, नाग समेत कई तरह की मि’साइल बनाई। पूर्व राष्ट्रपति कलाम के डायरेक्शन में ही देश को स्वदेशी मि’साइल मिली।

ब्रह्मोस एक सुपरसोनिक मिसाइल है। इसे पनडुब्बी से, पानी के जहाज से, विमान से या जमीं से भी छोडा जा सकता है। इसे आर्मी और नेवी के लिए बनाया गया है। ब्रह्मोस की रेंज 290 किलोमीटर है और ये 300 किलोमीटर तक बा’रूद ले जाने के लिए सक्षम है। ब्रह्मोस की विशेषता है कि हवा में ही मार्ग बदल सकती है और चलते फिरते लक्ष्य को भी भे’द सकती है। इसका पहला प’रीक्षण जून 2001 में हुआ था।

प’रमाणु ह’थियार ले जाने में सक्षम पृथ्वी मिसाइल- पृथ्वी मिसाइल का प्रथम प्रेक्षण 25 फरवरी 1988 में हुआ था। पृथ्वी 1 की रेंज 150 किलोमीटर है। साथ ही वो 1000 किलोग्राम बा’रूद ले जाने में स’क्ष’म है। पृथ्वी 2 और पृथ्वी 3 को लॉन्च किया गया।पृथ्वी 2 की रेंज 250 किलोमीटर और पृथ्वी 3 की रेंज 350 किलोमीटर है। स्वदेशी तकनीक से निर्मित पृथ्वी 2 प’रमाणु ह’थियार ले जाने में सक्षम है।

अग्नि बैलेस्टिक मि’साइल- अग्नि मि’साइल मीडियम बै’ले’स्टिक मि’साइल की रेंज में आती है। इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर है।15 मीटर लंबी और 12 टन वजन की ये मिसाइल एक क्विंटल भार ले जाने में और पर’मा’णु ह’म’ले करने में सक्ष’म है। अग्नि मि’साइल के अब तक पांच वर्जन लॉन्च हो चुके है। साथ ही छटे वर्जन को लॉन्च किया जा रहा है।

अग्नि ग्रुप मि’साइल के अंदर मीडियम रेंज बै’लेस्टिक मि’साइल से लेकर इंटरकॉन्टिनेंटल मि’साइल तक आती है। आकाश मि’साइल स्वदेश निर्मित सतह से हवा में मा’र करने वाली आकाश मि’साइल 25 किलोमीटर की दूरी तक मा’र कर सकती है। अपने साथ 60 किलोग्राम तक के ह’थि’यार भी ले जा सकती है। मानव रहित विमानों, लड़ाकू विमानों, कुरज मि’सा’इलों और हवा से सतह पर मार करने वाली मि’सा’इ’लों को भी नि’ष्क्रिय करने में स’क्षम है।

नाग मि’सा’इल – नाग मि’साइल को टैंक भे’द मि’साइल भी कहते हैं। नाग मि’साइल लाइट वेटेड वेपन्स में आती है। इस मि’साइल को हवा से जमीन पर मार करने के लिए हल्के वजन के हेलीकॉप्टर में भी लगाया जा सकता है। नाग मि’साइल की यह विशेषता है कि यह टॉप अटैक फायर एंड फॉरगेट और सभी मौसम में फायर करने की क्ष’मता से लैस है।

Leave a Comment