ममता बनर्जी की लहर में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के 7 उम्मीदवारों का हाल जानिए

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव का परिणाम बीते दिनों ही आया है। इसमें aimim की पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली है। फुरफुरा शरीफ के पीरजादा अब्बास सिद्धीकी के झ’ट’के के बाद ओवैसी को बंगाल में मु’स्लिम मतदाताओं को साथ नहीं मिला है। बंगाल के मुस्लि’म मतदाताओं ने ओवैसी से ज्यादा ममता बनर्जी का साथ दिया है।

इसी का नतीजा यह है कि बंगाल कि सभी 7 सीटों पर ओवै’सी के प्र’त्याशियों कि ज’मानत भी ज’ब्त हो गई है। Aimim को एक भी सीट नहीं मिल सकी है।AIMIM पार्टी ने बिहार कि तर्ज पर बंगाल मै मुस्लिम बहुल सीटों पर भी फोकस किया था लेकिन बिहार कि तरह वो मु’स्लिमो के दिल नहीं जीत पाए है। ओवैसी

asaduddin owaisi bangal

ने मुस्लिम केंडिडेट उतार’कर खाता खोलने का सपना संजोया था। लेकिन उनके सारे समीकरण को म’मता बन’र्जी ने ध्व’स्त भी कर दिया था। इतना ही नहीं ओवैसी के उम्मीदवारों के ज’मानत ही न’हीं ज’ब्त हुए बल्कि वो हजार वोट भी पार नहीं कर सके है। मुस्लि’म समुदाय ने असुद्दीन ओवैसी पर भरोसा नहीं जताया है।

इत हार सीट पर करीब 52 फीसदी मु’स्लिम वोटर होने के बाद Aimim मोका’फकर इस्ला’म एक हजार वोट भी हासि’ल न’हीं कर सके है। हालंकि इस सीट पर बीजेपी और तिएमसी के बीच काटे कि टक्कर भी हुई है। सगरदीघी सीट पर 65 फीसदी मुस्लि’म मतदाता भी है। जहा से Aimim के नूर महबूब मैदान पर थे।

asaduddin owaisi bangal

नूर महबूब पाच सो वोट भी नहीं पा सके है। भरतपुर सीट पर 58 फीसदी मु’स्लिम मतदाता है। जहा से Aimim पार्टी ने सज्जाद हुसैन को करा’री मात मिली थी। यह से टीएमसी प्रत्याशी हमाऊ कबीर ने अपनी जीत दर्ज कि है।

Leave a Comment