ओवैसी का टवीट- शहाबुद्दीन का पार्थिव शरीर सीवान ले जाना चाहता है परिवार, नहीं मिल रही इजाजत

राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद शाहबुद्दीन ने शनिवार को दिल्ली के दीनद’याल उपाध्याय अस्प’ताल में कोरो’नावा’यर’स से उनकी मौ’त हो गई है। वही उनकी मौत के बाद कई ने’ताओं ने शो’क भी जताया है। इसी बीच ऑल इंडिया मजलिस ऐ इटेहदुल मुस्लेमीन चीफ asaduddin ओवैसी ने आ’रो’प लगाया है कि शाहबुद्दीन का इला’ज ठीक से नहीं करवाया गया है

उन्होने अपने ट्विट मे गृहमंत्री अमित शाह को टैग करते हुए लिखा है कि मरहूम शाह’बुद्दीन साहब के घर वाले उनको सि’वान मे दफना’ना चाहते है अधिकारी इसकी इजा’जत नहीं दे रहे है। इसके अलावा उनकी म’य्यत को घर वालो के हवा’ले भी नहीं कर रहे है।

इसके बाद असुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि शाहबु’द्दीन का ठीक से इला’ज भी नहीं किया गया है और उन्हें Covid 19 के मरी’ज के साथ रखा गया है।उन्होंने आगे कहा कि कम से कम उनके गम’जदा घर वालो को उनके आख’री रसु’मात उनके हिसाब से करने से तो न’हीं रो’का जाना चहिए। जाहिर से बता है कि वो Covid 19 के तमाम एतिहात का भी पालन करेंगे।

बता दे कि सिवान के इस सांसद के नि’धन के बाद तेजस्वी यादव ने भी शोक जताया है। उन्होंने ट्विट करते हुए लिखा है कि पूर्व सांस’द शाहबुद्दीन का कोरो’नावाय’रस के संक्र’मण के का’रण अस’मय सम’य पर नि’धन कि दु’खद ख’बर बहुत ज्यादा पी’ड़ा’दाय’क भी है। अ’ल्लाह उनको ज’न्नत में जगह दे।

शा’हबुद्दीन लालू प्रसाद या’दव का बहुत करी’बी भी रहे है। लालू यादव जब जेल में थे तब उनके जिंद’गी कि दुआ भी कर रहे थे। अब उनके दोस्त इस दुनिया मे नहीं रहे है। 15 फ़रवरी 2018 को सु’प्रीम को’र्ट ने उन्हे बिहार कि सि’वान जे’ल से ति’हा’ड़ ला’ने का आदेश भी दिया था।

Leave a Comment