शरमीन ने लगा डाली गोल्ड मैडल की झड़ी, एक साथ जीते 13 गोल्ड, दुनिया में रच दिया इतिहास, किया भारत का नाम रोशन

हर किसी का यही सपना होता है कि वो बड़े होकर कोई अफसर बने या फिर अपने माँ बाप का नाम रोशन करे। किसी भी सपने को पूरा करने के लिए उसी के साथ मेहनत भी करना होता है।ऐसा ही मेहनत मु’स्लि’म समाज से ताल्लुक रखने वाले अशमत परवीन ने भी की है।

अशमत परवीन मंगलुरु की रहने वाली है। उन्होंने सिविल इंजीनियररिंग के फाइनल में 1 नही बल्कि 13 गोल्ड मेडल हासिल करके अपने परिवार का नाम रोशन किया है। उन्होंने अपने यूनिव’र्सिटी को टॉप भी किया है। जिसके बाद अशमत परवीन काफी ज्यादा खुश भी है।

asmat sharmin vtu exams

बता दे कि अशमत परवीन मंगलुरु की स्यार्दी कॉलेज एन्ड मैनेजमेंट की सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा है। उन्होंने कॉलेज बेंगलुरु की वुष्व रिया टेक्निकल यू’निव’र्सिटी से पड़ी है। अशमत ने सिविल इंजीनियरिंग बल्कि यूनिवर्सिटी को भी टॉप किया था। उन्होंने 9.42 सी जी पी ए अंक भी प्राप्त किया था।

जिसके बाद इस यूनि’वर्सिटी के मा’स्टर ने उनको सम्म’नित भी किया है। अशमत के अलावा धीरज एक ने दूसरे नम्बर पर 8.57 अंक भी प्राप्त किए है। बता दे कि अशमत परवीन की इस कहानी को शहर के आईए’एस मोह’म्मद मोहसुन ने भी शेयर किया है। जिसके बाद से ही अशमत को सोशल मिडिया के जरिये भी

asmat sharmin vtu exams

बधाई देने वालो का तांता भी लग गया है। ऐसे में उनकी सफलता की कहानी बहुत ही ज्यादा वा’यर’ल भी ही रह है। कई लोग उनकी कहानी को रोल मॉडल भी बता रहे है और कह रहे है कि मुस्लिम लड़कियों को इससे सिख भी लेना चाहिए। इस तरह जिंदगीमें आगे भी बढ़ना चाहिए।

Leave a Comment