जौहर यूनिवर्सिटी बनाने की कीमत चुका रहे आजम खान : पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी

उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश के पूर्व राज्यपालअजीम कुरैशी ने हाल ही में कहा है कि आजम खान उत्तरप्रदेश के रामपुर में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय के निर्माण की कीमत भी चुका रहा है। उन्होंने एक फे’सबुक पोस्ट में कहा है कि भारत का सबसे बड़ा दुर्भा’ग्य यह है कि मोह’म्मद

अली जौहर विश्वविद्यालय का निर्माण को ब’र्दा’श्त नही किया जा सकता है। कुरेशी ने आगे कहा है कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा नियुक्त राज्यपालों केकारण शुरुआती 10 वर्षों तक विश्विद्यालय को मान्यता भी नही मिली थी। उन्होंने कहा है कि पार्टी द्वारा नियुक्त दो राज्य’पालों ने मोह’म्मद

अली जौहर विश्विद्यालय विधेयक को मंजूरी नही दी थी। मुलायम सिंह यादव को सम्बोधित करते हुए एक गवर्नर ने एक बार कहा था क्या आप चाहते है कि मैं विश्विद्यालय से स’म्बन्धित बि’ल को मंजू’री दे दु और पा’किस्तान में इसका एक दरवाजा भी खुल जाए । हमने अ’लीगढ़ मु’स्लिम यूनिव’र्सिटी बनाकर

विभाजन के दर्द को पहले ही सहन कर लिया है। क्योकि यूनि’वर्सिटी ने पा’कि’स्तान के निर्माण की मदद की थी। सिंह ने यह बातचीत कुरैशी को सुनाई है। जब वह उत्तराखंड के राज्यपाल के रूप में कार्यरत थे। जब वह बात’चीत आ’जम खान को सुनाईगई तो रो’ने लगे और

azam khan ex governor aziz qureshi

अ’ल्लाह से दुआ की कि अजीम क़ुरैशी उत्त’प्रदेश के राज्य’पाल बने ताकि वह इस बि’ल को मं’जूरी दे सके। कुरेशी को 17 जून 2014 को उत्तरप्रदेश के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने केवल पांच दिनों के लिए भी पद संभा’ला था।

Leave a Comment