मजदुर के बेटे अजहरुद्दीन ने किया कमाल, कबाड़ से बना दी ई-सोलर वाहन, विदेशों से आने लगे आर्डर

कहते है अगर किस्मत और अपने वालो का साथ मिल जाए तो कोई चीज कब मिल जाए और मंजिले कब आसमान को छू ले पता नही चलता है। हर इंसान की जिंदगी में आगे बढ़ने की कहानी हर तरह की होती है।इंसान की जिंदगी में दुःख दर्द

और परेशानी हर मोड़ पर उसका इंतजा’र करने के लिए खड़ी भी रहती है। यह कहानी है मेरठ के मुरादाबाद के रहने वाले अजरुद्दीन की है। जिनकेपीता ने जिंदगी भर मजदूरों की ओर माँ जो कभी स्कूल ही नही गई। अजरुद्दीन ने मेकेनिकल इंजी’नियरिंग कर रहा है और उसका बीटेक सेकंड ईयर है।

उन्होंने कबाड़ से समान जुटाकर एक इले’क्ट्रॉनिक कार बनाई है। इतना ही नही वह उस कार को विदेश में भी बेचना चाहते है।यह इलेक्ट्रिक कार एक बार चार्ज करने के बाद लगभग 100 किलोमीटर भी चलती है। इसके साथ ही अजरुद्दीन ने सोलर कार भी बनवाई है ।

इसे तो चार्ज करने की जरूयत भी नही है। यह सब अजरुद्दीन ने अकेले ही किया है। बताया जा रहा है कि मेरठ के अजरुद्दीन अवनी कार को सरकार से वेरिफाइड कराने की कोशिश भी कर रहे है।

azharuddin solar cart 2021

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए इस बात का दावा किया है कि उनकी यह इलेक्ट्रॉनिक कार से पर्यावरण पर किस भी तरह का बु’रा प्रभा’व नही पड़ेगा। यह कार सस्ती और मजबूत भी है। इसका उपयोग ऑटो के तौर पर भी किया जाता है। जिससे पैसे की भी जरूरत नही होती है।

Leave a Comment