अगर आप ही चावल खाते हो तो याद रखी हुज़ूर (स.अ.व.) का ये जरुरी हुक्म, होगी बरकत और

ऐसे तो हर चीज खाने के लिए होती है। लेकिन आज हम आपको चावल खाने के बारे में भी बता रहे है। हमारे देश की बड़ी आबादी चावल का इस्तेमाल भी करती है। बाज लोग हो हर रोज चावल भी खाते है।कई बार ऐसा भी होता है कि डॉ’क्टर मना कर देते है,

बस तभी लोग चावल कम भी खाने लगेट है। हमारे नबी सल्ला’हु अ’लैहि वस’ल्लम ने फरमाया है कि अगर आप बहुत ही ज्यादा परेशान है घरों में या फिर मलियत को लेकर या अपने काम काज को लेकर परे’शान है तो खा’ने में चाव’ल का इस्ते’माल भी करे।

इंशा’अ’ल्लाह बहुत ही ज्यादा फाय’दा भी होगा चाव’ल खा’ने की फजी’लत …हमारे नबी स’ल्लाहु अलै’हि वसल्लम ने चावल की फजीलत के बारे में बताया है कि एक बार एक शख्स हु’जूर की बा’रगाह में तशरी’फ़ लेकर आए। उन्होंने अजर किया कि र’सू’ल अ’ल्ला’ह मैं ब’हुत ही ज्यादा गरी’ब हूं मुझे एक ऐसा वजी’फा

बताए कि जिस’से मुझे का’रो’बार में भी बर’कत हो। यह सुन अ’ल्ला’ह के र’सूल ने फरमाया की तुम ‘चा’वल खा’या करो इससे तु’म्हारे रि’ज्क में तं’गी दूर भी हो जा’एगी। फिर एक दू’सरा श’ख्स नबी की बा’र’गाह में हा’जिर हुआ और कहने लगा कि रसू’लअ’ल्लाह मैं बहुत अमीर हूं । मेरे पास इतना माल है कि मुझसे सम्भाके

नही जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे एक ऐसा जिससे मेरी परेश’नी दूर हो जाए। रसूल’अल्ला’ह ने फरमाया की तुम चा’वल खा’या करो। यह सभी माज’रा कुछ स’हाबी देख रहे थे। उन्होंने कहा कि हु’जी’र आपने दोनों को ऐसा क्यों कहा हुजू’र ने फरमा’या चा’वल में बहुत बरकत है।

Leave a Comment