चेन्नई में CAR-NPR के खि’लाफ हज़ारों लोगों ने निकाली तिरंगा यात्रा, सड़क पर गाया राष्ट्रगान

ना’गरि’कता संशो’धन का’नून को लेकर देशभर में वि’रोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। इस का’नून के खि’लाफ महिलाए सड़को पर उतरी है। दिल्ली के शाहीन’बाग की महिलाए करीब 2 से महीने से अधिक समय से बैठी हुई है। उनकी मांग है कि जब तक सर’कार सीए ए का’नून को वापस नही लेती तब तक वो सड़’को से नही उठेगी। दिल्ली की दर्ज पर अभी राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, एमपी , यूपी , असम, गुजरात, जैसे राज्यो में धरना शुरू हो गया है।

नागरि’कता का’नून के खि’लाफ़ साउथ के अहम राज्य तमि’लनाडु में भी विरो’ध शुरू हो गया है। तमिलनाडु के 6 से ज्यादा शहरों में महि’लाए सड़को पर उतर आई है। बता दे, वाशर मैन पेट मे हुई लाठीचार्ज के बाद चेन्न’ई के समा’जसेवी काफी गुस्से में थे । उसके बाद ये मा’र्च नि’कालने का ऐलान किया गया । चेन्नई के वालज़ाह रोड़ से तमिलनाडु विधानसभा तक विरोध मार्च निका’ला गया । इसमे बड़ी तादाद में स’माज सेवी, मुस्लिमों ने हिस्सा लिया ।

वही विधा’नसभा के बाहर बड़ी तादाद में पुलिसक’र्मी भी तैना’त थे । इस मार्च में हज़ा’रों लोगो ने राष्ट्र’गान भी गाया,जिसकी पूरे देशभर में चर्चा हो रही है । बता दे कि चे’न्नई के वाश’रमैनपेट में पुलिस ने लाठी’चार्ज कर दिया है। चेन्नई पुलि’स का कहना है कि प्रदर्शन’कारियों से भिं’डत में पु’लिस के 4 जवा’न ज’ख्मी’ हो गए है। इसमे 1 महिला डिप्टी कमिश्नर, 2 महिला अ’धिकारी और 1 सब इंस’पेक्टर शामिल है।

प्रदर्शनका’रियों का कहना है कि उनके खेमे से भी कुछ लोग ज”ख्मी हुए है। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने लोगो को हिरासत में ले लिया है। इनकी रिहा’ई के लिए लोगो ने नारे’बाजी शुरू कर दी। डीए’मके अध्यक्ष ए’मकेस्टॅलिन ने प्रदर्श’नका’रियों पर हुए ला’ठीचार्ज की निं’दा की है। स्टालिन ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि डी’एमके ने मांग की है कि सभी प्रद’र्शन’कारियों पर द’र्ज के’स वापस लिए जाए।

चेन्नई पु’लिस ने साफ किया है कि विरोध प्रद’र्शनों के दौरान हुए झ’ड़प में किसी भी श’ख्स की मौ’त नही हुई है। दरअसल,दावा किया गया है कि बु’जुर्ग शख्स की प्रदर्शन के ‘दौरान शुक्रवा’र रात को मौ’त हो गई थी। इसकी तस्वीरें भी सोसल मीडिया पर वॉयरल हुई थी ।

Leave a Comment