ता’लिबान के साथ आया चीन, बोला- अफगानिस्तान पर न डालें दबाव, सत्ता परिवर्तन में मदद करे दुनिया

चीन ने ताज़ा बयान में कहा कि चीन ने अंत’राष्ट्रीय स’मुदाय से अपील की है कि अफ’गा’निस्ता’न पर द’बा’व डाल’ने की जगह ता’लि’बान के साथ सत्ता हस्तां’त’रण के दौरान उसकी मदद करनी चाहिए। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने इस मुद्दे पर खुलकर बात की और पा’किस्तान, ब्रि’टेन के साथ भी ऐसे मु’द्दों को ह’ल करने को लेकर बैठक की।

नवभारत टाइम्स की ताज़ा रिपोर्ट्स के मुताबि’क ची’न ने कहा है कि अफगा’निस्ता’न में फिर से आ’तं’कवा’द का अ’ड्डा नहीं बनने देना चाहिए। उन्होंने कहा कि ता’लि’बान के सत्ता में आने के बाद इस सं’क’ट से निप’ट’ने के लिए म’जबूती के साथ सम’र्थन किया जाना चाहिए।

अफ’गानि’स्तान में तालि’बान खुद को नई सरकार के तोर पर पेश कर रहा हो लेकिन फे’स’बुक ने ता’लि’बान को अपने प्ले’टफार्म को पूरी तरह से बैन कर दिया है। फे’सबुक का कहना है कि अमे’रि’का का”नून के तहत ता’लिबा’न एक आ’तं’की सं’ग’ठ’न है। इसलिए वो हमा’री स’र्विस में बै’न ही रहेगा।

फेस’बुक की नी’तियों के मुताबिक आतं’की संग’ठन को प्लेट’फार्म को जगह नही दी जाएगी। हम उनके द्वारा मेंटे’न किए गए अका’उंट्स को भी ह’टा देंगे। बता दे कि फे’सबुक ने अपने नि’यम की ‘पालना करने के लिए पूरी तरह कमर भी कस ली है। उन्होंने यह भी बताया है कि हमने अफ’गा’निस्तान

के कई एक्स’पर्ट हमारी टीम में भी शामिल है।बता दे कि ता’लि’बान के एक अधि;का’री ने अफगा’निस्ता’न में सभी के लिए आम मा’फी का एलान करते हुए महि’लाओ से सर’का’र में शा’मिल होने की गुजारिश भी की है। इस्लामी अ’मीरात आयु’क्त के सदस्य इनमु’ल्लाह समन गनी ने अफ़’ग़ान के

सरका’री टीवी पर यह टिप्पणी की है जो अब ता’लि’बम के कब्जे में है। उन्होंने कहा है कि इस्ला’मी अमी’रात नही चाहता है कि महिला’एं।पी’ड़ित हो। दरअसल ता’लि’बान अफ’गानि’स्तान के लिए इस्लामी अमीरात का इस्तेमाल भी करता है। कई सालों के बाद तालि’बा’न के शास’न में महि’ला टीवी पर

एंक’रिंग कर’ती हुई नजर आई है। tolonews की प्रमुख मिराक पोपल ने ट्वीट करते हुए कहा है कि हमारी महि’ला प्रवक्ता स्टू’डियो में तालि’बा’न मी’डिया टीम के एक स’दस्त का लाइव इंटरव्यू भी करती हुई नजर आई है।

Leave a Comment