सैंकड़ो कोरो’ना मरी’ज़ो को अस्प’ताल पहुँचाने वाले आरिफ खान की कोरो’ना से हुई मौ’त, उपराष्ट्रपति बोले-आरिफ की मृ’त्यु से दुःखी हूं

पिछले 7 महीने से अपनी जा’न जोखि’म में डा’लकर कोरो’ना म’हामा’री के इस दौर में को’रो’ना वारि’यर्स की जितनीं तारीफ की जाए इतनी कम है । को’रो’ना वा’रि’य’र्स अपनी जा’न की पर’वा’ह न करते हुए लोगो की मदद के लिए दि’न रा’त लगे हुए है । कई ऐसे को’रो’ना यो’द्धा भी है जो अपने परिवार से दूर रहकर भी को’रो’ना म’री’ज़ो को अस्प’ता’ल और आ’इ’सो’ले’शन वा’र्ड में ले जाने के किये दिन रा’त एक किए हुए थे । आज हम आपको देश के महान स’पूत , को’रो’ना यो’द्धा से मिलवाते है जो दिल्ली के सीलम’पुर क्षेत्र से आते उनका नाम आरिफ खान ।

एम्बुलेंस ड्राइवर आरिफ खान की आज देशभर में चर्चे हो रहे है। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू सेलेकर देश का हर नागरिक आरिफ को सलामी पेश कर रहा है । आरिफ अब इस दुनिया मे नही है, वो को’रो’ना म’रीज़ो को अ’स्प’ता’ल’ पहुचाते , आइ’सोले’शन वार्ड तक म’री’ज़ो को ले जाते थे । 200 से ज्यादा म’री’ज़ो को समय से पहले पहुँचकर अस्प’ता’ल लाने वाले और उनकी जा’न ब’चा’ने वाले आरिफ का कोरो’ना से नि’ध’न हो गया ।

covid-19 warrior aarif khan

आरिफ को जानने वाले लोग बताते है कि वो एक जिं’दा’दि’ल शख्सियत थे । उन्होंने 200 से ज्यादा म’री’ज़ो को न सिर्फ अस्प’ताल पहुचाया बल्कि उन्होंने 100 से अधिक श’वो की भी अ’न्तेय’ष्टि भी । बता डेज़ उनका दिल्ली में हिंदूरा’व’ हॉस्पि’ट’ल में इला’ज चल रहा है, उन्हें जिस दिन भर्ती कराया गया उसी दिन वो इं’ते’क़ा’ल कर गए ।

आरिफ के निधन पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी शौ’क व्यक्त किया है। बता दे,आरिफ खान पिछले 25 सालों से शहीद भगतसिंह सेवा दल से जुड़े थे जहाँ वे फ्री में एम्बुलेंस की सेवा किया करते थे । 21 मार्च को से आरिफ खान को’रो’ना म’री’ज़ो को अ’स्प’ताल ले जा रहे है और मरी’ज़ो को आइसो’ले’शन वार्ड में ले जाने का कार्य भी उन्ही के पास था ।

covid-19 warrior aarif khan

भगत सिंह सेवा दल के संस्थापक जितेंद सिंह शंटी ने कहा कि आरिफ खान एक जिंदादिल शख्सियत थे । वे करीब 7 महीने से कोरोना मरीज़ो को अस्पताल ले जा रहे थे और उन्होंने मुस्लिम होते हुए करीब 100 हिंदुओ के शव का भी अंतिम संस्कार किया ।

सेवा दल के प्रमुख ने बताया कि जब उन्हें दफनाया गया तो उनके परिवार का कोई भी सदस्य उनके पास नही था केवल उनके परिवार ने दूर से उनको देखा था । बता दे, आरिफ खान का अं’तिम सं’स्का’र भगतसिंह सेवा दल।के प्रमुख ने किया ।जितेंद सिंह ने आरिफ खान को असली को’रो’ना यो’द्धा बताते हुए सरकार से 1 करोड़ रुपये की आर्थि’क सहायता देने की मांग की है ।

Leave a Comment