चूड़ी बेचने वाली गरीब माँ की होनहार बेटी वसीम शेख बनी डिप्टी कलेक्टर, पास की पीसीएस परीक्षा

हमारे समाज मै हर दिन एक न एक लड़की अपनी तकदीर को बदलते हुए आगे बढ रही है। चाहे वो हि;न्दू समाज हो या फिर मुस्लि’म समाज । अपनी पह’चान और अपनी मेह’नत के दम पर यह सब कर रही है। महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले कि रहने वाली वसीमा शेख ने अपने जिले का नाम रोशन किया है और महाराष्ट्र पी’ब्लिकसर्विस कमी’शन में तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

वसीमा शेख ने डिप्टी क’मिश्नर बनने का सफ़र आसान नहीं रहा है उन्होंने कई मुश्कि’लों का सामना करना पड़ा है।बता दे कि उनके पिताजी मनसिक रूप से असंतुलित है, और उनकी मां घर घर जाकर चूड़ियां बेचने का काम करती है ताकि उनके घर का काम चल सके।वसिमा ने अपने घर पर कई मु’श्कि’लों का सामना किया है

deputy collector wasima sheikh news
deputy collector wasima sheikh news

वसीमा के भाई ने जैसे तैसे अपनी ग्रेजुए’शन की पड़ाई पूरी की इसके बाद एक छोटी सी कम्पनी में जॉब शुरू करी । वसिमा को भी शिक्षा कराई।बता दे कि वसीमां के सपने तो बहुत बड़े थे लेकिन उनको पूरा करने के लिए उनको समय नहीं मिल पाया।हमारे समाज में लड़कियों को शादी जलदी ही हो जाती है वैसा ही वसिमां के साथ भी हुआ।

उनकी शादी महज 18 साल कि आयु में हो गई। वसीमl के पति का नाम शेख हैदर है जो उस समय पीब्लिक सर्विस कमीशन की तैयारी कर रहे थे।वसी मा ने 2018 में महाराष्ट्र पबलिक कमीशन की परीक्षा दी। वो उस समय सेल्स इंस्पेक्टर की जॉब कर रही थी।

wasima sheikh
wasima sheikh

इस तरह से उन्होने अपनी कोशिशों को जारी रखा। फिर वो साल 2020 में वो महाराष्ट्र कमीशन में न सिर्फ पास ही हुई बल्कि महिलाओं की श्रेणी में उन्होंने तीसरा स्थान प्राप्त भी किया है। इस तरह वसी मा डिप्टी कलेक्टर बनी है।

Leave a Comment