एक तरफ देश में अमन व् शांति के लिए मु’स्लिमों ने रखा रोज़ा, दूसरी ओर बर्फीली सर्दी में जामिया में ड’टे बच्चे और महिलाएँ

ना’गरि’कता सं’शो’धन का’नून को लेकर देश भर में विरो’ध प्रद’र्शन हो रहा है। इस का’नून के खि’लाफ में कई पार्टियों ,सा’माजिक सं’गठन और ने’ताओं ने प्र’दर्शन किया है। इस का’नून के खि’लाफ सबसे पहले असम राज्य में प्र’दर्श’न हुआ था। इसके बाद भारत की राजधानी दिल्ली सहित बाहरी देशो की कई विश्व प्रसिद्ध यूनिवर्सिटी में भी वि’रो’ध जारी है। इस का’नून के खि’लाफ विरो’ध करने के बीच हिं’सा की खबरें भी सामने आई है।

इसमें असम में सबसे पहले हिं’सा हुई तो फिर इसकी चपे’ट में यूपी के कई जिले आए । इन जिलों में हिं’स’क हुई झ’ड़’पों में 20 से अधि’क लो’गों की मृ’त्यू हुई। आपको बता दे, इस का’नून आया वि’रोध करने वाले सिर्फ मु’स्लि’म समा’ज ही न’ही है बल्कि दूसरे ध’र्म के लोग कर रहे है। बता दे, दिल्ली में जामिया (शाहीन बाग) में इस का’नून को लेकर दिन रात वि’रोध जारी हैं। यहां पर करीब 14 दिन से रात दिन आम जनता, सा’माजिक का’र्यकर्ता, विधा’र्थी प्रो’रेस्ट कर रहे है ।

इन सभी लोगों का हौस’ला बढ़ाने के लिए कई बॉलीवुड सेलेब्रेटी, नेता , शायर, सामा’जिक कार्यकर्ता लगातार आ जा रहे है । आप को बता दे, देश मे अमन व शांति के लिए देशभर में मु’स्लि’म ध’र्म के लोगों दुआए कर रहे है तो वही पिछले जुमे के दिन रो’जा’ रखने की अपील की गई ।देश के अधिकतर हि’स्सों में लोगों ने रो’ज़ा रखा और देश के अमन चैन के लिए दुआ भी गई ।

दिल्ली की दरगाह हज़’रत नि’ज़ामऊद्दीन , अली’गढ़ मु’स्लिम यूनि’वर्सिटी और जामिया में समुदाय के लोगों ने रोज़े रखे और इफ्तार भी किया । बीते जुम्मे के नमाज पढ़कर अमन चैन की दुआ मांगी गई। बता दे, देश में नाग’रिकता कानून को लेकर विरोध जारी है। हर राज्यों और कस्बे में इस के खिलाफ रै’लियां निकाली जा रही है , आम सभाएँ की जा रही हैं।

Leave a Comment