डॉ. अब्दुल कदीर: वह महान शिक्षाविद्य जिनके संस्थान से पढ़कर MBBS बने 900 छात्र, दुआएँ दे रहे लोग

आज हम आपको देश के ऐसे शख्सियत और महरूफ शख्स से कराने जा रहे है जिनकी मेहनत और जज्बे के किस्से अक्सर लोगो ने सुने है। वह शख्स शाहीन ऑफ इंस्टिट्यूट के फाइंडर डॉक्टर अब्दुल कदीर का नाम आता है । उनका नाम दुनिया भर में बेहतरीन तालीम और कोचिंग के लिए जाना जाता है।

डॉक्टर अब्दुल कदीर का राजस्थान के न्कोटा जिले में अल बयान पब्लिक स्कूल के सिलसिले में आना हुआ। इस स्कूल के सरपरस्त असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर नईम है। इन्होंने मुल्क में तालीमी बेदर के साथ साथ उन्होंने नेक इंसान बनाने की मुहिम के लिए काम करना शुरू किया।

उन्होंने 1989 में एक छोटे से कमरे में 17 स्टूडेंट्स के साथ कोचिंग को शुरू किया। आज इस इंस्टिट्यूट के अंतर्गत 16 प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज और 9 कॉलेज चल रहे है। इसके साथ ही बता दे कि एक डिग्री कॉलेज चलाया जा रहा है। जिसकी ब्रांच बेंगलुरू और मैसूर में है।

डॉक्टर अब्दुल कदीर का कहना है कि हर बच्चे को तालीम मिले इस बात की हम कोशिष कर रहे है। वो हर तबके को तालीम देने के लिए हमेशा ही तैयार रहते है। इसके लिए उन्होंने स्कॉलरशिप को चला रखा है।अब्दुल कदीर ने बताया है कि 25 राज्यो के बच्चे मेडिकल कॉलेज के लिए प्रवेश लेने आते है।

हर साल 200 से ज्यादा मेडिकल स्टूडनेट्स सफल होकर सरकारी कॉलेज में सीट हासिल करते है। उन्होंने बताया है कि इसकी ब्रांच शिमोगा, बेलगावी, मैसूर, गुलबर्गा, कोलार, रायचूर, पटना, औरंगाबाद और लखनऊ में है। उन्होंने आगे कहा जल्द ही राजस्थान ये जयपुर में ब्रांच खोला जाएगा।

Leave a Comment