आमिर की दर्द भरी दास्तान पढ़िए, दुबई से माँ की खिदमत के लिए नौकरी छोड़ी लेकिन ….

को’रो’ना की व’ज’ह से अपनी जा’न का ख’त’रा है और दूसरी तरफ कई लोगो ने लोके डाउन के चलते हुए अपनो को खोया है। लोक डा’उन के चलते हुए सभी अंतरा’ष्ट्रीय उ’ड़ा’नों समेत सभी घरेलू सा’धनों पर भी रो’क लगी हुई थी। ऐसे हालातो में किसी ने अपने बेटे को खोया तो किसी ने अपनी माँ को खोया है। एक ऐसी ही दास्ता दुबई से लोटे हुए आ’मिर की है।

जिन्होंने अपनी माँ से मिलने के लिए नोक’री भी छोड़ी फिर भी वो अंति’म बार माँ को न’ही देख पाए। अपनी माँ से मिलने के लिए आमिर ने सब कुछ दाव पर लगा दिया। 30 साल के आमिर खान अपनी बी’मार माँ के साथ वक्त बिताने के लिए दु’बई के प्रोडक्ट कंसल्टेंट की नोकरी छोड़कर 13 मई को भारत लौटे थे। दिल्ली में उनका लोक डाउन पी’रि’य’ड ख’त्म होता उससे पहले ही उनकी माँ की मौ’त की ख’बर मिल गई।

13 मई को भारत लौटे आमिर ने कहा मैनें यह खबर अधिकारियों को भी बताई। मैंने उनसे कहा कि मैं सभी एहतियात को बरतुगा, पर कुछ भी क’म न’ही आया। मैंने पिछले दो महीने केवल एक म’क’स’द के लिए बिताए है मैं अपनी माँ के साथ वक्त गुजर सकू। मैंने इसके लिए सब कुछ दांव पर लगा दिया।

उन्होंने बताया कि दूतावास के कई चक्कर लगाने के बाद 13 मई को मैं दुबई से दिल्ली की फ्लाइट परसवार हुआ। यहां आकर मुझे एक होटल में 14 दिन के लिए क्वो’र’न्टीन सें’टर में भे’ज दिया गया। इसके बाद अपनीं माँ की मौ’त की खबर मुझे हुआ मैंने अं’ति’म सं’स्का’र के लिए इजाजत भी मांगी लेकिन कुछ भी न’ही हुआ।

अमीर ने कहा मैं मार्च में आना चाहता था लेकिन ऐसा इसलिए नही कर सका क्योंकि सभी अंत’राष्ट्रीय उड़ानों पर प्र’ति’बं’ध लगा दिया गया था। दुबई में मुझे वरिष्ठ केवल 20 दिन की छुट्टी दी गई। इसके बाद मैने जॉ’ब छोड़’ने का फैसला किया और वापस आ गया। मुझे नही पता था कि मेरी माँ के पास बहुत क’म स’म’य ब’चा है।

Leave a Comment