ए’र्दो’गन ने इस यूरोपियन देश को दी चे’तावनी,बोले -से’ना भेजकर हम करेंगे ह’मला’

तु’र्की ने अपने पड़ोसी देश के बारे में चौकाने वाला बयान दिया है। तुर्की सदर ने अप ने बयान में उन देशों को चे’ता’व’नी दी है। ए’र्दो’गान अपने बयान को लेकर हमे शा से च’र्चे में रहते है। उनके बयान की चर्चा इसलिए भी होती है क्युकि वह दुनिया के लगभ ग मु’द्दो पर अपनी बात रखते है। ए’र्दो’गन की लो’क’प्रियता दुनिया में काफी अधिक मानी जाती है। उन्हें एक बेहतरीन लीडर भी माना जाता है। बता दे , जो अपने पड़ोसी देश सा’इ’प्रस जो तु’र्की से अलग राय देते है ।

तु’र्की ने एक बार फिर कग की सा’इ’प’र्स पर तु’र्की के अधिकार होना चाहिए और वो इसके लिए एक बार फिर सै’न्य का’र्य’वा’ही कर सकता है । आप को बता दे कि सा’इ’ प्र’स सेकड़ो सालों तक ओ’टो’मन सा’म्रा’ज्य का हिस्सा था। तु’र्की के राष्ट्रपति ने कहा कि तु’र्की की से’ना जो 45 साल पहले जैसा कदम उढ़ाने में कभी सं’कोच नही किया था, और आगे वैसा ही कदम तु’र्की सा’ई’प्रि’यो’ट्स के जीवन और सुरक्षा के लिए आवश्यक होगा तो वो कदम फिर से उढाएगा।

ए’र्दोगन ने कहा कि सा;इप्र;स के अधिकारों और हितों की र’क्षा के लिए तु’र्की ने शांति अभियान की शूरुआत की जो द्वीप के बराबर मालिको में से एक है। ए’र्दोगन की टिप्पणी सा;इप्र’स में तु’र्की की आबादी की सु’रक्षा के लिए शुरू किए गए है। उनके सदर अपने नागरिको को हर हाल में खुशहाल देखना चाहते है। तु;र्की के सैन्य अभियान की 45 वी वर्ष’गांठ पर आई है।

ए’र्दोगन ने कहा कि किसी को यह संदेह नही होना चाहिए कि वीर तु’र्की से’ना, जो अपनी मा’तृ’भू’मि के लिए सा’इ’प्र’स को देखती है, वह वही कदम उढाने से नही हिच’केगी जो 45 साल पहले लिया गया था जो तुर्की के सा;इप्र;स के जीवन और सुरक्षा के लिए जरूरी था। ए’र्दो’गन ने याद किया कि 1974 में सै’न्य ऑ’परेशन अन्त’राष्ट्री’य का’नून के अनुरूप सभी कु’टनी’तिक क’दमो के स’माप्त होने के बाद आया था।

ए’र्दोगन ने खास बात पर गौर करते हुए प्र’काश डाला कि तु’र्की के उ’द्देश्य द्वीप और शां’ति पर एक उचित स्थान समाधान था, न कि पू’र्वी भू’मध्य सा’गर में त’नाव उत्पन करना। ए’र्दोगन ने कहा ‘ जो लोग इस त’थ्य को बदलने का स’पना देखते है की तुर्की साइ’प्र’टस तु’र्की रा’ष्ट्र का एक अभिन्न हिस्सा है ,जल्द ही महसूस करेंगे की यह व्य’र्थ है। 1974 में, ग्री’स द्वारा सा’इप्र’स के इने’क्सेशन के उद्देश्य से तख्ता पलट के बाद अं’कारा को एक गा’रंटर के श’क्ति के रूप में ह’स्ताक्षर करने होगा।

Leave a Comment