कौन है फैसल अली डार जिन्होंने सीमित संसाधनों में एकाडेमी चलाकर हासिल किया राष्ट्रपति से सम्मान

रा’ष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के द्वारा बीते दिनों 21 मार्च 2020 को पद्म पुरुस्का’र से कई बड़े लोगो को नवाज गया है। इस पुरुस्कार से सम्मा’नित होने वाले में एक नाम कुंग-फु-मास्टर फैस’ल अली दार का नाम भी शामिल है। फैसल जम्मू कश्मीर में आतंकके साए वाले इलाके में अपनी एकेडमी चला रहे है।

जान’का री के मुताबिल बता दे कि इसों सा’ल केंद्र सर’कार ने गणतं’त्र दि’वस की पुर्व संस्था पर पद्म पुरु’स्कारों का ऐलान करते हुए चार हस्तो’यो को पद्म विभू’षण सम्मन देने का एलान किया था।पद्म भूषण सम्मान 17 और पद्म श्री पुरुकार 107 लोगो को दिया गया है। इसनें खेल जगत से फैसल अली दार को पदम् श्री आवर्ड के लिए चुना गया था।

फै’सल अली दार बचपन से ही ब्रूस ली की फिल्में देखा करते थे। ब्रूस ली अमरी’कन मा’र्शल आ’र्टिस्ट थे। फैस’ल के अलावा भी दुनियभर में ब्रूस ली के करोड़ो दी’वाने है। इसी स्टार से प्र’भा’वित होकर फैसल ने कुंग -फू- चुना और इसी में अपना करि’यर भी बनाया। उन्होंने साल 2003 में कुंग-फू सीखना शुरू किया था।

फैसल अपना रोल मॉडल अपने कोच कुल’दीप हांडू को ही faisal ali dar padma vibhushanमानते है। उनके साथ ही ब्रूस ली के बहुत ही बड़े फैन है।पूर्व मार्शल आर्ट्स चैम्पियन फैसल अली दार ज’म्मू क’श्मीर के बांदी’पोरा जिले में रहते है। यहां पर उन्होंने एक एकेडमी को शुरू की है।

जिसमे वर्ल्ड किक बॉ’क्सिंग चैम्पि’यनशिप तजामुल इ’स्लाम और क’राते चैम्पि’यन’शिप हा’सिम मंसूर जैसे युवाओं को प्रशिक्षित किया गया है। बां’दीपोरा एक आ’तंक’वा’द प्र’भा’वित क्षेत्र माना जाता है। फैसल को भी अपने करियर की शुरु’आत में सामा’जिक और रा’जनी’तिक तौर पर काफी ज्यादा सं’घर्ष करना पड़ा।

Leave a Comment