CAA, NRC के ड’र से मु’स्लिमों ने निकाल ली बैंक में रखी जमा पूँजी, कहा- रकम डू’बने का …

नाग’रिकता सं’शोध’न का’नून के खि’लाफ देश भर में प्रदेशन देखने को मिल रहे है । इस कानून के डर से बीते 2 महीनों में कई अफ”वाहें देखने को और सुनने को मिल रही है । इस कानून से जहा असम को छोड़कर कई राज्ये के लोग भृम में है कि वो अपनी नाग’रिक’ता खो देंगे । अब एक नया माम’ला सामने आया जो चौकाने वाले है और सर’कार, बैं’क कें”लिय भी आने वाले दिनों में एक चुनोती बनकर उभर सकता हे।

जनसत्ता की एक खबर के अनुसार इस का’नून के ड’र से तमिल’नाडु के नागपट्ट’नम जिले में करीब 100 मु’स्लि’म ‘किसा’नों ने अपने बैंक अकाउंट से जमा राशि निकाल ली है। उन्होंने कहा है कि सरकार एनपी’आर लाने वाली है इसके चलते उनकी राशि डूब सकती है। न्यूज 18 की खबर के मुताबिक, एक वी’डियो सामने आया है ।

citizenship amendment act

जिसमे इंडियन ओवरसी’ज बैंक के अधिकारी किसानों से कहते है कि वो अपनी रकम ना निकाले। मैनेजर ने उनको बात को समझाया है। एनपीआर में दस्ता’वेज देने की जरूरी नही है। उनकी क’माई हुई रकम को कुछ भी नही होगा। एक कि’सान ने कहा है कि हमने सुना है बैंक अपनी केवाईसी के लिए एनपीआर को भी जरूरी बनाए जा रहे है।

बता दे कि इस कि जानकारी पैनिक की एक वजह सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की ओर से तमिल अखबारोंके जनवरी में विज्ञापन दिया गया था। इस विज्ञापन में बैंक ने खाता’धारकों से अपील की थी वो अपनी केवाईसी जल्द पूरी करे। बैंक की ओर से केवाईसी के लिए जिन दस्ता’वेजों के लिए कहा गया था उनमे एनपी’आर का भी जिक्र है।

बता दे, बीते दिनों नाग’रिकता का’नून के खि’लाफ तमिलनाडु में भी वि’रोध प्रदर्श’न देखने को मिले थे । त’मिल’नाडु में हज़ारों की संख्या में लोगो ने तमिल’नाडु विधान’सभा का घेरा’व भी किया था । इसी दौरान तमि’लनाडु के नागरिकों ने जो नागरिकता का’नून का विरो’ध कर रहे थे उन्होंने सड़क पर राष्ट्र’गान भी पढा था ।

Leave a Comment