सऊदी इतिहास में हुआ ऐसा पहली बार, महिला सुरक्षा गॉर्ड मक्का की मस्जिद और सड़को पर तैनात की गई, सऊदी मंत्रालय बोला-

आज के दौर में हर देश मै म’हिला सुर’क्षा को लेकर उनके कई तरह कि परे’शानी को सर’कार धीरे धीरे खत्म भी कर रही है। जो एक महिला कि जिंदगी में सबसे ज्यादा ख’त’रना’क भी होते है।सउदी अरब भी महि’ला के ऊपर से सभी तरह के का’नू’नों को ह’टा रहा है और महि’लाओं को विजन 2030 के तहत उनको आगे बढ़ा’ने में भी मदद’गार सा’बित हो रहा है।

हाल ही में मक्का शहर में उम’राह जाय’री’नों को प्रवेश कि सुविधा देने के लिए सऊ’दी सर’कार ने म’हि’ला सुर’क्षाक’र्मियों को नियुक्त किया है। जो पर’मिट रखने वाले सभी जा’यरीनों को प्रवेश भी देगी।बता दे कि म’हिला मोट’र चाल’कों के पहचान दस्ता’वेजों को लेकर म’क्का के प्र’वेश गेट पर ही महि’ला सुर’क्षा क’र्मियों को तैनात किया गया है।

first female guards saudi arabia

इन सभी का काम उम’राह या फिर इबा’दत के लिए आने वाले मक्का पहु’चने वाले सभी या’ता’यात को वि’नि’यमित करने के लिए जारी किए गए परमिट कि जा’च करना भी शा’मिल हैं।बता दे एक म’हिला स’ड़क सुर’क्षा गार्ड ने सउदी टेली’विज़न अल इख’ब्रिया को बताया है कि

हमारे सौंपे गए फील्ड कार्यों में पहचान बताने और उमराह करने वाले जा’यरी’नों कि परमिट कि जां च करना भी शामिल किया गया है।रम’जान के महीने में म’क्का और मदी’ना शरी’फ में हर साल ही हा’जी जाते थे। लेकिन korona की वजह से यह सब क’म के दिया गया है। सउदी अधि’कारि’यों ने इस साल रम’जान के

first female guards saudi arabia

महीने में आने वाले जाय’रीनों में 50,000 उम’राह जा’यरीन, 1,00,000 नमा’जियों को म’स्जि’द मे जाने को इ’जा’जत दी गई है। corona की दूसरी ल’हर के बढ़ते असरा त को देखते हुए ऐसा किया गया है ।

Leave a Comment