ग़रीबी को मात देकर मुस्लिम लड़के ने पाया 70 लाख का पैकेज, बेटे ने पिता का सर किया ऊँचा

खुदी को कर इतना बुलन्द की खुदा पूछे कि बता तेरी रजा क्या है। यह शे’र तो आप ने सुना ही होगा। किसी व्यक्ति की कोशिश ना हो तो उसकी जात देखती है ना वो गरीबी और ना अमीरी। वह तो बस साबित होने का अवसर तलाश करती है और जैसे ही अवसर मिल जाता है वो अपना लोहा दुनिया के सामने मनवा लेती है। एक ना एक दिन कामयाबी मिल ही जाती है। अगर इंसान मेहनत पर मेहनत करता रहे।

दिल्ली में पड़ने वाले एक लड़के ने साबित कर दिखाया है कि अगर काबिलियत है तो मंजिल तक पहुँचना मुश्किल नही है।आज हम आपको मोहम्मद आमिर की कहानी बताएंगे। मुसीबत आने पर भी इन्होंने हार नही मानी।आमिर मूल रूप से उत्तरप्रदेश के मेरठ जिले से ताल्लुक रखते है। दिल्ली के जामिया नगर में रहते है। इनके पिता शमशाद के बेटे की पढ़ाई के लिए कर्ज किया और बेटे को पढ़ाया।

इनके पिता इलेक्ट्रिशियन है। हर माता पिता का सपना होता है कि उनके बच्चे पड़ लिख कर बड़े आदमी बने। इनके पिता को आमिर की काबिलियत देखने के लिए एक सेकंड हैंड मारुति 800 कार करीब 40 हजार रुपए में खरीदकर दी। जिसे आमिर ने एक इलेक्ट्रिक चार्जिंग कार में बदल दिया। उनके इस कार को जामिया के स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में 29 अक्टूबर को प्रदर्शित किया गया था।

इसके जरिये जामिया के बेवसाइट पर जानकारी बताई गई थी। जिससे देश विदेश की कई कम्पनियों की नजर में आया।आमिर को अमेरिकी कम्पनी की तरफ से 70 लाख रुपए सालाना का पैकेज मिला। आमिर ने 2014 में 12 क्लास में केमेस्ट्री, मैथ ओर बायोलॉजी पढ़कर 70.8 फीसदी अंक प्राप्त किए। आमिर ने एक साल पढ़ाई छोड़ दी। 2015 में जामिया यूनिवर्सिटी में बीटेक, इंजीनियरिंग डिप्लोमा की प्रवेश परीक्षा दी।

जामिया से 2015 से 2018 तक उन्होंने मेकेनिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया। अमेरिका की फ्रिजन मोटर वर्क्स ने बैट्री मैनेजमेंट सिस्टम में बतौर इंजीनियर के पद पर लिया है। आमिर के पिता ने बताया है कि आमिर को बचपन से इलैक्ट्रिक में रुचि थी। आमिर मेरे से ऐसे ही सवाल पूछता था। पिता ने कहा कि मैं सवालों का जवाब नही दे पाता था।

लेकिन आज मुझे बहुत खुशी है कि मेरा बेटे कि नोकरी लग गई है ओर उसका सपना पूरा हो गया। जो मेहनत कर रहे है, उनके लिए आमिर ने खास तौर पर बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लक्ष्य तक पँहुचने में मुसीबते आती है लेकिन इरादा मजबूत हो तो तमाम मुश्किलों के बाद भी सफलता की राहें मिल ही जाती है।

Leave a Comment