वर्ल्ड चैम्पियन तजामुल इस्लाम, दो बार जीता गोल्ड मेडल, कश्मीर में सिखाती हैं किकबॉक्सिंग

आज के दौर में मुस्लिम लड़कियां अपने क्षेत्र में नाम रोहन कर रही है। कश्मीर की रहने वाली तजमुल इस्लाम ने दो बार वर्ल्ड किक बॉक्सिंग चेम्पियन है । नकी उम्र मात्र 14 साल है। इन्होंने अक्टूबर 2021 में दूसरी बार वर्ल्ड किक बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीता है।

उससे पहले वह साल 2016 में गोल्ड मेडल जीत है। उन्होंने बताया है कि यह उपलब्धि इतनी ज्यादा आसान नही थी। उनकी सबसे पहले चुनोती उनके पिता थे। जिन्हें बेटी का किकबॉक्सिंग में जाना बिल्कुल पसंद नही था। कश्मीर के बांदीपुर जिले के तारक पीरा गांव की रहबे वाली है।

उन्हें जम्मू कश्मीर में साल 2015 में आयोजित स्बे जूनियर वर्ल्ड किक बॉक्सिंग स्पर्धा में अपने पहले टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता। इस बड़ी जीत के बाद उनके पिता ने बेटी का समर्थन देने के लिए आगे आए। इसके बाद सफलता उन मिलती ही।रही।

उन्होंने साल 2015 में दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय किक बॉक्सिंग चेम्पियन शिप में स्वर्ण पदक जीता। साल 2016 में इटली के एंड्रिया में विश्व किक बॉक्सिंग चैम्पियनशिप जीती।तजामुल ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि वह अपने चुने हुए खेल के जब चैम्पियनशिप बनी तो उनके

परिवार जे स्पोर्ट करना शुरू कर दिया। 12 साल की उम्र में तजामुल ने जम्मू में एक अकादमी की स्थापना शुरू की और किक बॉक्सिंग को सिखाना शुरू किया। जहाँ उसने करीब 800 छात्रों को ट्रेनिग दी। अभी इसकी 6 शाखाएं तरपोरा में स्थित है।

Leave a Comment