हागिया सोफिया को मस्जिद बनाने पर यूरोप और अमेरिका भड़के, एर्दोगन को दी धमकी,बोले- इतिहास से ….

हागिया सोफिया म्यूजियम को 86 साल बाद फिर से मस्जिद में बदलने के बाद तुर्कि सदर रजब तैयब एर्दोगन की पूरी दुनिया में तारीफ हो रही है । हागिया सोफ़िया नदी के किनारे करीब 1660 साल पहले ऑर्थोडॉक्स ईसाईयो की आस्था का प्रमुख केंद्र था,जिसे बेंजमींटीन ने बनाया था । यह इस्ताम्बुल के सुल्तान हेम इलाके में स्थित है। इस स्मारक को 481 वर्षों के बाद मस्जिद के रूप में इस्तेमाल किया गया था।

1934 में कलाम पाशा ने इसे मस्जिद से एक संग्रहालय में बदल दिया गया था। हागिया सोफिया को एक महत्वपूर्ण स्मारकों में से एक माना जाता है, यह यूनेस्को की दुनिया की विश्व प्रसिद्ध प्रमुख इमारतों में भी गिना जाता है ।गौरतलब है कि तुर्की के इस्लामी औऱ राष्ट्रवादी समूह लंबे समय से हगिया सोफिया संग्रहालय को मस्जिद के रूप में बदलने की मांग कर रहे थे।

hagia sophia history

एर्दोगान ने बीते दिनों बयान दिया था है कि वो चंद दिनों के बाद हागिया सोफिया को म’स्जिद के रूप में बदलने वाले है।तुर्की के उप विदेश मंत्री यावुज सलीम ने बताया है कि तुर्की देश अपने सां’स्कृतिक ओर धा’र्मिक स्थलों की र’क्षा करना जारी रखेगा। हागिया सोफिया के बारे में कुछ भी नि’र्णय करना तुर्की के यह आं’तरिक निर्णय है।

तुर्की के कई देशों ने चेतावनी भी दी है कि वो ऐसा न करे। फिर भी एर्दोगान ने कहा कि मस्जिद का दर्जा दिया जाएगा। उनका ये जबाव शुक्रवार को अमेरिका विदेश विभाग में धा’र्मिक स्वतं’त्रता के राजदूत सेम ब्राउन बेक के हगिया सोफिया के बारे में दिए गए बयान के जवाब में आया है।

hagia sophia history

उन्होंने आगे भी बताया है कि तुर्की विश्व वि’रासत में आए 18 स्मारकों को बनाए रखता है। ब्राऊन बेक़ ने पहले कहा था कि दुनिया भर के अरब लोगो जे लिए हागिया सोफिया का आ’ध्यात्मिक और सांस्कृ’तिक महत्व है। बीते महीने भी ग्रीस ने यूनेस्को से अपील की थी वो इस आधार ओर तुर्की के इस बात पर आ’प’त्ति जा’हिर करे ये प’रिवर्तन अंत’राष्ट्रीय कन्वें’शन का उ’ल्लं’घन करता है।

इसी वर्ष मई माह में ग्रीस ने पूर्वबाइजेंटाइन साम्राज्य पर ओटोमन साम्राज्य के आ’क्रम’ण की 567 वी वर्षगांठ पर हागिया सोफिया में कु’रान को पड़े जाने पर भी आ’प’त्ति जाहिर की थी। बता दे, तुर्की के इस फैसले के बाद मु’स्लिम दुनिया मे जहा ख़ुशी की लहर है तो वही अमेरिका, ग्रीक सहित यूरोप के कई देश तुर्की के इस फैसले के बाद ना’रा’ज नजर आए है ।

hagia sophia history

ग्रीक ने एर्दोगन को चे’ताव’नी देते हुए कहा कि ए’र्दोगन अपने फायदे के लिए ऐसा कर रहे है ,जबकिं अमेरिकी माइक पेमपियो ने साफ किया एर्दोग’न को ऐतिहासिक इमारतों से छे’ड़’छा’ड़ नही करना चाहिए ।

Leave a Comment