पहली बार दुनिया के 30 देशों के बच्चों ने कुरआन पाक सुनने में लिया हिस्स्सा, 40 घण्टे में 1000 बच्चों ने …..

मु’स्लिम समा’ज मे सबसे पवित्र किताब कु’रान शरी’फ को कहा जाता है और जिसको पढ़ने का शौ’क़ीn हर मुस्लि’म श’ख्स भी होता है। यह किताब कुरान श’रीफ रम’जान के पाक महीने के ना”जिल हुई थी।हाल ही में 30 देशो के लगभग 1000 बच्चो ने एक प्र’तियोगिता केसाथ 40 घण्टे की चुनौती में पूरे कुरान शरीफ को

पढ़ने में अपनी योग्यता को साबित भी किया है। उन्होंने अपने शिक्ष’कों और माता पिता के साथ मिलकरGEMS शिक्षा समु’दाय के युवाओं ने 20दिनों की अबधि में इस चुनौ’ती में बहुत ज्यादा इच्छा से भी भाग लिया था।GEMS शिक्षा समूह में अरबी भाषा औऱ इस्लामी अध्ययन की उपाध्यक्ष दिमा अल्लामी ने कहा कि

the holy quran

हमारे स्कूल के समुदाय को सुनने और देखने, उसके अलावा पूरे कु’रान को।पढने के लिए छात्रों से लेकर माता’पिता, शिक्षकों और कई राष्ट्रीय , आयु समूहों के सहा’यक कर्म’चारी भी एक साथ आते है। यह केवल इस्ला’म ध’र्म की सुंद’रता, उत्सु’कता को भी बताता है।

बता दे कि GEMS एजु’केशन ग्रुप में अर’बी और इ’स्लामि’क ली’ड कोच रेयान बेन हमोद ने कहा है कि कुरान एथॉन अब तक कि सबसे रो’मांचक पहलो मेसे एक है। जिसमे मु’झे भा’ग लेने का अ’वसर भी मिला है। मुझेउम्मी’द है कि इस तरह की पहल आगे भविष्य में भी जारी रहेगी।

the holy quran

उन्होंने आगे कहा है कि मैं बहुत ज्यादा खुश हूं कि मेने पहली बार सामु’हिकरुप से GEMS समुदाय को पूरे कु’रान श’रीफ को पढ़ते हुए देखा है। इसमे सभी आयु वर्गों के ब’च्चो ने भाग भी लिया था।

Leave a Comment