कौन हैं नियाज़ खान जिन्होंने कहा- कीड़े मकोड़े नहीं हैं मुसलमान ….

मध्य’प्र’देश में द क’श्मी’र फा’इ’ल्स की ब’हस मे एक ट्वीट कर प्र’देश के आई’ए’एस अफसर नियाज खान भी आ गए है। उन्होंने सोश’ल मी’डिया पर फ़िल्म के निर्देशक विवेक अ’ग्निहो’त्री का नाम लिए बिना कहा है कि मु’स’ल’मा’न कोड़े नही,

निर्माता उन’के नर’संहा’र पर भी फ़ि’ल्म ब’नाए। इससे पहले भी नि’याज खान आश्र’म बे’वसिरिज’ की टीम पर अपनी कहा’नी चु’राने का आ’रोप लगाकर सुर्खिया बतौर चुके है।नि’याज खान मध्य’प्रदेश कै’डर के आई’एस अधि’करी है। फिलहाल लोक निर्मा’ण वि’भाग में उप सचि’व के पद पर तैना’त है।

वह कि’ताब भी लिख चुके है। उनका मानना है कि इ’स्ला’म ध’र्म के ब’द’नाम के पीछे कई संगठ’नों की ख’राब ‘छवि है।जी मध्य’प्रदेश -छत्तीस’गढ़ की रिपोर्ट के मुताबि क बता दे कि निया’ज खा’न अभी तक छह से अ’धिक उप’स लिख चुके है। उनके एक उप’न्यास पर आ’श्रम बेवसि’रिज बनी हुई है।

जिसका क्रे’डिट न मिलने पर नियाज खान ने आश्रम के निर्माता निर्देशक और कला’कार के खि”लाफ न्या’यलय में मामला दर्ज किया है। ‘नि’याज अ’फसर होने के साथ साथ ही लेखक है। वह मो’हम्मद साहब के जीव’न ‘पर ‘लिखी कि’ताबो का अध्ययन पर अपनी रि’सर्च

बुक यूरोप से प्रका’शित करवाना चाहते है। निया’ज खा’न का दावा है कि वह सभी ध’र्मों में आ’स्था रखते ह और वह शा’काहारी है। हाल ही में उन्होंने इ’राक में यजीदियों पर नई कि’ताब लिखी है वह बी रे’डी टू दाई है। इसमें उन्होंने बताया है कि नार्थ इराक के ‘य’जी’दी हिंदु’ओ का ही रूप है।

Leave a Comment