भारतीय टीम में खलील अहमद और मो. शमी की वापसी तय , वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुनी जानी है टीम…

विश्वकप 2019 भारत के लिए हमेशा कसकता रहेगा। भारतीय क्रिकेट टीम को वि श्व कप 2019 की बेस्ट टीम कहा था। सेमिफाइनल में न्यूज़ीलैंड से मिली हार के बाद करोड़ो क्रिकेट प्रशंसक निराश हुई। टीम इंडिया के लिए तरह तरह की अफवाह भी उड़ी। कहते है क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है , क्रिकेट में जिस टीम का दिन हो वह टीम जीतती है। भारतीय टीम मजबूत थी लेकिन न्यूजीलैंड की टीम ने भारत के मजबूत बैटिंग लाईनअप को बिखेर कर करोड़ो लोगो को दिलों को तो ड़ दिया।

विश्व कप 2019 इग्लैंड ने जीत लिया है। इसके बाद सभी टीमों अपने अपने देश लौ ट चुकी है और अगले होने वाले टूर्नामेंट या दौरो की तैयारी में लग चुकी है। भार तीय टीम भी विश्वकप खत्म होने के बाद वेस्टइंडीज दौरे पर जाने वाली है। विश्वकप से पहले माना जा रहा था कि कप्तान कोहली और तेज गेंदबाद बुमराह को इस दौरे से पहले आराम दिया जा सकता है लेकिन सूत्रो के अनुसार सेमिफाइनल में हार के बाद दोनों खिलाड़ीयों सहित कई सीनीयर खिलाड़ीयों की छुट्टी कौंसिल हो गई है।

भारतीय क्रिकेट टीम 2020 में होने वाले टी-20 विश्वकप और 2023 में भारत में होने वाले विश्वकप की तैयारी में लग गई है। खबरें की माने तो 2023 में होने वाले विश्वकप में कई खिलाड़ी नहीं खेलेगें। कई सीनियर खिलाड़ी इस समय को नए प्ले यर तैयार करने की बात कर रहे है। भारतीय ओपनर शिखर धवन पहले ही चो ट के चलते बाहर है, कप्तान धोनी ने भी बीसीसीआई से 2 माह का आराम मांगा है। वही भुवी को भी आराम दिया जा सकता है।

वेस्टइंडीज के लिए भारतीय टीम जल्द ही चुनी जानी है। सूत्रों की माने तो इस दौरे में कई युवाओं को मौका दिया जा सकता है। भारतीय टीम को तेज गेंदबाज के अलावा मिडेल ऑर्डर को भी सुधारना होगा। वही भारतीय टीम में ओपनर की समस्या से भी दो चार होना पड़ रहा है। नियमित ओपनर शिखर के जाने के बाद टीम का संतुलन फिर से गड़बड़ाने लगा है। ये खामी हम विश्वकप में देख चुके है। विश्वकप में मिडिल ऑर्डर की भी बड़ी समस्या है। वही स्पिनर के रुप भारतीय टीम को विकल्प तलाशना होगे।

विश्व कप 2019 में भारतीय टीम में तेज गेंदबाजी में बुमराह, शमी कामयाब रहे थे। भारतीय टीम को सभी विभागों में अतिरिक्त खिलाड़ियों की एक लम्बी फेहरिस्त रखनी होगी। ऐसा करने पर भारतीय टीम को 2019 की तरह नुकसान नही उठाना पड़ेगा। विश्वकप में भारतीय ओपनर शिखर धवन कुछ मैच खेल पाए थे। नम्बर 4 पर खेल रहे के एल राहुल ने ऑपनिंग की थी वह ज्यादा कामयाब नही हो पाए थे। राहुल के ऊपर आने से भारत का मध्यक्रम फिर से कमजोर हो गया था।

बता दे, नम्बर 4 के लिए भारतीय टीम पिछले कई सालों से पर्यासरत है लेकिन उसे अब तक सफलता नहीं मिली है। वेस्टइंडीज दौरे पर रहाणे, अश्विन के अलावा युवा खिलाड़ीयों में श्रेय अय्यर, शुभमन गिल को मौका दे सकती है। धोनी के इस दौरे में नहीं होने के कारण रिषभ पन्त और ईशान किशन को फायदा मिल सकता है। बता देे, अय्यर को भारतीय टीम की दीवार कहे जाने वाले राहुल द्रविड़ ने सवारी है और वह नम्बर 4 पर बैटिंग करते आए है।

उनका डॉमेस्टिक केरियर बहुत ही शानदार रहा है। इसके अलावा विकेट किपर के तौर पर रिषभ पन्त को अलावा ईशान किशन को भी मौका दिया जा सकता है। तेज गेंदबाजी की बात करे तो बुमराह अपनी सर्वश्रेष्ठ लय में चल रहे है वही मोहम्मद शमी ने विश्वकप में खेलें 4 मैचों में 14 विकेट लेकर सुर्खियां बटौरी थी।

भारतीय टीम वेस्टइंडीय दौरे पर सीनीयर स्पिनर अश्विन को वापस बुला सकती है। विश्व कप 2019 में भारतीय टीम को स्पिनरों ने औसत प्रदर्शन किया था। चहल और कुलदीप यादव को फिर से मौका देने की पूरी सम्भावना बनी हुई। वही विश्वकप के सेमिफाइनल में जुझांरु पारी खेलने वाले रविन्द्र जडेजा टीम में बने रह सकते है।

इसके अलावा ऑलराउंडर हार्दिक पान्डा समय के समय बेहतरीन होते जा रहे है। बता दे , सेमिफाइनल हार के बाद से कयाक लगे थे कि कोहली के हाथो में से क प्तानी जा सकती है लेकिन सलेक्टरों ने उन पर फिर से भरोसा कायम करते हुए वेस्टइंडीज दौरे पर बरकरार रखा है। वही रोहित शर्मा को भारतीय टीम की कप्तानी के लिए लम्बा इन्तजार करना पड़ सकता है।

Leave a Comment