मुस्लिम शख्स ने हिन्दू लड़कियोंं की शादी में किया कन्यादान, बेटी की तरह किया विदा

देशभर में बढ़ रही मजहबी दीवार के बीच कई जगहों पर अभी भी कौमी एकता की मिसाला देखने को मिल रही है। एक मुस्लिम परिवार से हिन्दू परिवार की बेटियों का हिन्दू रीतिरिवाजोंसे कन्यादान आसपास के लोगो के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है।

दोनो परिवारों ने समाज के लोगो के लिए कौमी एकता का उदाहरण पेश किया है।बिधगाव में जुनून ए इंसानियत की तस्वीर सोशल मीडिया पर छाई हुई है। सोशल फाउंडेशन के अध्यक्ष बाबा भाई पठान के घर के सामने एक भुसारी परिवार रहता है।

indian muslim help

उनकी बेटी सविता दो बेटियां और एक बेटे के साथ महेरी को छोड़कर चली गई थी। सविता ने बर्तन धोकर बच्चों को पाला और आगे बढ़ाया है।सविता घर के सामने रहने वाले को अपना भाई मानती है। सविता का कोई भी भाई नही है। बाबा भाई ने बच्चों को पढ़ाया भी है।

सविता की बेटी गौरी बीए और छोटी बेटी 12 की पढ़ाई पूरी कर चुकी है। जब दोनों बेतिया शादी के लायक हो गई तो उन्होंने रिश्ता को ढूंढा ओर दोनो बेटियों की शादी एक परिवार में दोनो भाइयों के साथ करने का फैसला किया।

indian muslim help

बाबा भाई को सविता को मा हर साल राखी पर राखी बांधती है क्योकि उनका कोई भाई नही है।बाबा भाई ने एक भाई, मामा और चाचा की भूमिका निभाई है।

Leave a Comment