इरफ़ान पठान ने ना’गरिकता का’नून पर किया ट्वीट, अल्पसंख्यक वो होता है जो …., यूज़र्स बोले – मु’स्लिम के बिना हिंदुस्तान अधूरा है

ना’गरिक’ता का’नून को लेकर देश भर में 20 दिनों से वि’रोध प्रद’र्शन देखने को मिल रहा है। इस का’नून को लेकर देश के कई राज्यो में आम सभाएँ और रैलियां निकाली जा रही है। इस का’नून के विरो’ध के खिलाफ यूपी समेत कई राज्य हिं’सा की चपेट में आए है। एनडीटीवी के अनुसार यू’पी में इस कानून के वि”रोध में प्रदर्शन कर रहे 20 लोगो से अ’धिक की मौ’त हो चुकी है। इसका असर हर राज्य में देखा जा रहा हैं। अभी तक यह ‘मामला थ’मा नही हैं।

केंद्र सरकार जहाँ इस का’नून का बचा’व कर रही है, तो वही कोंग्रेस सहित कई वि’पक्षी दल ल’गातार इस का’नून का वि’रोध कर रहे है। इस बीच क्रिकेटर इरफान पठान ने ट्वीट पर अपनी प्रति’किया व्यक्त की हैं। इंडिया टीवी न्यूज डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, इरफान ने कही भी caa और nrc नही लिखा है, लेकिन उनका ये ट्वीट इन्ही मु’द्दों से जोड़कर देखा जा रहा है।

इरफान ने अपने ट्वीट हैंडल पर लिखा है कि अ’ल्पसंख्यक उसे कहे जाता है जो नंबर में कम होते है। हम भारतीय है हम तो पूरी दुनिया मे बहु’संख्यक हैं। जय हिंद। इरफान के इस ट्वीट के बाद यूजर्स ने कई तरह की प्रतिकिर्या की है। ThePhysicist नाम के एक यूजर्स ने इरफान को रिप्लाई करते हुए लिखा है कि “भाई, आप जैसे मु’स्लिम्स के बिना हिंदु’स्तान के हि”न्दू अधूरे है।

कृपया CAA और NRC को लेकर भारतीय मु’स्लिमो को ड’रा’ने वालो को क्ली’न बो’ल्ड कर दो प्लीज”। इस का’नून को लेकर देश की राजधानी दिल्ली में भी वि’रो’ध हो रहा है। इस का’नून के वि’रो’ध के लिए बाहरी देशो ने भी मु’स्लिमो का सम’र्थन किया है। इस का”नून के वि’रोध के लिए मु’स्लि’मो के अलावा भी कई ध’र्म के लोगो ने वि’रो’ध किया है।

दिल्ली में जामिया के स्टूडेंट्स और शाहीन बाग और ओखला में भी दिन रात प्र’दर्शन जारी है।आपको बता दे कि इस का’नून के खिलाफ विरोध करने वालो ने जुम्मे के दिन रोजा रखकर देश के लिए अमन चे’न की दुआ’ मांगी थी। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी और जामिया मिलिया इस्लामिया के अलावा कई यूनिवर्सिटी के छात्र ओर छात्राओं ने इस काले का’नून का वि’रोध किया है।

Leave a Comment