जा’मिया: दोस्त को ब’चाने को लेकर सुर्खियों में आई आयशा और फरज़ाना, बोली- सिर्फ़ अ’ल्लाह से ड’रती हु

नाग’रि’क’ता सं”शो’धन बि’ल को लेकर देशभर में वि’रो’ध प्र’द’र्श’न देखने को मिल रहे है। देशभर में इस बिल को लेकर असम, मेघायल, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल , पंजाब , राजस्थान , महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यो में भी रैलियां निकाली जा चुकी है। टीवी चैनलों पर प’क्ष और वि’प’क्ष में डि’बेट हो रही है। बता दे, CAB बि’ल के वि’रो’ध की शुरुआत लोकसभा में बिल पास होने से ही शुरू हो गई थी।

लोकसभा के बाद जब बिल राज्यसभा में बिल पास हुआ तो असम से लगे हुए कई राज्यो में भा’री वि’रो’ध देखने को मिला । असम के बाद त्रिपुरा , मेघालय में प्रो’टे’स्ट ने जोर प’कड़ लिया । दिल्ली में भी जामिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में छात्र ओर छात्राओं ने इस बिल के विरो’ध ने प्रो’टे’स्ट रखा। देखते ही देखते छा’त्र व छात्राएं सड़क पर उ’तर आए। आपको बता दे,,जा’मिया से शुरू हुआ प्रो’टेस्ट देश के 25 प्रतिष्ठित यूनीवर्सिटी में फे’ल गया ।

बीते सप्ताह छात्र और छात्राओं की कुछ ‘पिक्चर ने लोगों का दिल जीत लिया ।इसी कड़ी में , इस बिल के विरोध में रविवार को एक हिं’सा की तस्वीर सामने आई है। इस त’स्वीरों सो’शल मी’डिया पर वा’य’रल हो गए । इस पि’क्चर की सबसे ज्यादा चर्चे हो रहे है । वो तस्वीर थी जामिया की आयशा रीना और लदीदा फरजाना की। बता दे, इनका एक वीडियो वा’य’रल हो रहा है ।

जिसमें यह छात्राएं अपने दोस्त को ब’चा’ने के लिए पु’लि’स’क’र्मि’यों से भि’ड़ गई थी। इसकी वीडियो भी सामने आई है। इस वीडियो में दिखाई दे रहा है कि पुलिसकर्मी एक घर से एक लड़के को खींचकर उस पर लाठियां बरसा रही है। इस पर युवक की महिला साथी उसे ब’चा’ने के लिए पुलिसकर्मियों से भी’ड़ गई। आयशा रेन्ना ने द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में बताया कि शाम में करीब 5.30 बजे हमने सामने से लोगो को भा’गकर आते देखा और पु’लि’स’क’र्मी उन पर ला’ठियां बरसा रहे थे।

आपको बता दे कि रेन्ना ने बताया है कि’ इस पर हम लोग एक घर मे घु’स गए, लेकिन घर के गे’ट पर गाड़ी खड़ी होने की वजह से गेट बं’द न’ही हो पाया था। इस पर पुलि’स’क”र्मी ने हमे बाहर आने को कहा, हमने बाहर आ’ने से म’ना कर दिया तो उन्होंने हमारे साथी को बाहर ‘खींच’कर उस पर ला’ठि’यां ‘बजा’ना शुरू कर दिया। बता दे कि आयशा जमीया में इतिहास और फरजाना अरबी भाषा मे ग्रेजुएट की छात्रा है।

जामिया के छात्रों ने शां’ति’पूर्ण मार्च का आयोजन किया था। ये आंदोलन बहुत बढ़ गया। पुलिसकर्मियों ने लाठीचार्ज ओर आंसू गैस के गोले छोड़े । आपको बता दे, इन छात्रों ने द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा है कि वो किसी से नहीं ड’र’ती है , अगर ड’र’ती है तो सिर्फ अ’ल्लाह से डरती है ।

Leave a Comment