इंसाफ के लिए इंटरनेशनल कोर्ट जाएगा पत्रकार दानिश सिद्दीक़ी का परिवार

अ’फगानि’स्तान सं’कट के दौरान मारे गए पु’लित्जर पुरु’स्कार वि’जेता भरतीय फ़ोटो पत्रकार दानिश सिद्दिकी का परि’वार इं’साफ के लिए इंट’रने’शनल क्रि’मिन’ल को’र्ट जाएगा। बता दे कि दा’निश की पिछले साल अफ’गानि’स्तान जं’ग में कवरेज के दौरान मौ’त हो गई थी।

अफ’गानि’स्तान उस वक्त समाचार एजे सी रॉयटर्स के लिए कं’धा’र में काम कर रहे थे। यहां अफ’गान सि’क्योरि’टी क’रसे’ज और तालि’बा’न के बीच जं’ग चल रही थी। मी’डिया रि’पोर्ट में इस बात का दावा किया गया है कि दा’निश को ता’लि’बा’ण ने बे’र’ह’मी से मार दिया। उनका शरी’र पर कई ज’ख्म थे।

सि’द्दिकी उस वक्त तक जिं’दा थे जब ता’लिबान ने उन्हें पक’ड़ा। ता’लिबा’न ने सिद्दि’की की पहचा’न की पुष्टि की थी। आरो’प है कि ता’लि’बान दानि’श और उसके साथी को ले गए जहां उन्हें बेर’ह’मी से मा’रा गया।दूसरी तरफ बता दे कि ता’लि’बान ने दा’निश को क’त्ल करने से इन’कार कर दिया है।

ता’लि’बान ने कहा है कि इस फो’टो ज’नर्लि’यात की मौ’त क्रॉस फाय’रिंग के दौ’रान हुई है। दानि’श ने उनसे कवरे’ज की मं’जूरी न’ही ली थी। हमने कई बार कहा था कि अगर पत्र’कार यहां आते है तोप’हले हमसे मं’जूरी ले। हम उन्हें सि’क्योरि’टी देगे।

पु’लि’त्जर अवार्ड से सम्मानित किए गए दा’निश सिद्दि’की दिल्ली के रहने वाले थे। जा’मियान’गर के ग’फ्फा’र मंजि’ल इला’के में रहते थे। उन्होंने जा’मि’या मि’लिया इस्ला’मि’या से इ’कोनॉ’मिक्स में ग्रेजुए’शन किया है। इसके बाद साल 2007 से पत्र’कारि’ता की प’ढ़ाई की। उनके परि’वार में उनके प’त्नी और दो ब’च्चे है। वह साल 2010 से रॉय’टर्स से जुड़े हुए थे।

Leave a Comment