कश्मीर : मुसलमानों ने की हिन्दू पड़ोसी के अंतिम संस्कार में मदद, नम आंखो से दी विदाई

को’रो’ना म’हा’मा’री के इस दौर में ऐसे तो हर शह’र के सौ’हार्द से भ’री कई कहानि’यां सामने भी आ रही है। इसी बीच क’श्मीर से भी एक बार फिर से सा’मा’जिक सौ’हार्द के त’स्वीर सामने आई है। आपसी भाई’चारे की मि’साल पेश करते हुए दक्षिण क’श्मीर के ता’हब गांव में

एक हि’न्दू पड़ो’सी के अं’ति’म सं’स्का’र में मुस्लि’म समुदा’ए के लोग मदद के लिए सामने आए है।आपको बता दे कि 70 साल के चमन लाल पुल’वामा ताहब गांव के रहने वाले है। बीते दिनों ही उनका नि’ध’न हो गया था। वह अपने भाई के साथ कुछ क’श्मी’री पं’डित केसाथ के थे। जो 1990 के बाद से ही क’श्मीर से नही गए है।

kashmiri pandit pulwama

उन्होमे अपने गांव ताहब में ही रहना पसन्द किया।बता दे कि चम’न लाल BSNL में कार्यरत थे। अव अपने गांव के साथ साथ ही आ’सपास के इ’लाकों में भी मशहूर थे। चमन लाल अपने ज्यादा वक्त अपने मु’स्लि’म दो’स्तो के साथ ही बिताया करते थे।

ऐसे में जब चमन लाल का निधन हो गया है तो उनकी मदद के लिए मुस्लि’म परिवार के लोग और उनके दोस्त आगे आए है।मीडिया से बात करते हुए एक स्थानीय पड़ोसी ने बताया है कि वह कई सालों से हमारे बीच ही रह रहे है। हम सभी एक दूसरे के साथ ही रहा करते थे।

kashmiri pandit pulwama

उनकी अंति’म या’त्रा में भी हम उनके साथ है। स्थानीय लोगो ने ही उनकेअ’न्ति’म सं’स्कार के लिए लक’ड़ी से लेकर कई ची’जों का प्र’बं’ध भी किया और उनके निधन पर शो’क भी व्य’क्त किया है।

Leave a Comment