इस्लामी निकाह : केरल की दुल्हन ने मेहर में मांगी 100 किताबें, यूजर्स बोले- सलाम है आपको

मुस्लिम समाज में हर लडकी को शादी के महर में दिया जाता है। इस रकम को सिर्फ लड़की तय करती है। इसके बाद लड़की का निकाह भी होता है। मेहर को इस्लाम कि नजर में तहत किसी लड़की का होने वाला शोहर की तरफ से दिया जाने वाला तोहफा होता है।

इस मेहर को न तो वापस लिया जाता है और न ही माफ किया जाता है। इस रकम को सिर्फ निकाह के पहले ही अदा किया जाता है। लड़की जो शर्त रखती है उसी के मुताबिक उसको अदा भी किया जाता है।केरल की एक दुल्हन ने अजीब तरह का मेहर अपने शौहर से अदा करने का वादा भी किया है।

keral news hindi

जिसकी वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल भी हो रहा है। जिसमे दुल्हन ने तो जायदाद और पैसा के बजाए अपनी पसंदीदा 100 किताबों देने कि शर्त रखी है।New Indian Express के मुताबिक कोल्लम में पुरानी रीतिरिवाज़ों को तोड़ते हुए एक नई बेहतरीन मिसाल देने वाला निकाह हुआ है।

कोल्लम शहर में 24 साल कि B.ED की छात्रा दुल्हन बनी है। अजना निजाम कि शादी तिरुवनंतपरम के मदापुर ग्राम पंचायत में काम करने वाले 26 साल कि सिविल इंजीनियरिंग एजाज हकीम के साथ हुई है। अज़ना ने 100 किताबों कि लिस्ट को अपने शौहर को भी सौंप दिया है। इस फैसले से इनके रिश्तेदारों ने इसका विरो’ध भी किया है।

keral news hindi

लेकिन इनके माता पिता इन दोनों के लिए सहमत भी हुए है। बता दे की इस किताबो में एओबामा कि जीवनी, कुरआन शरीफ, खालिद होसेनी, हरुकी मुराकामी कि किताबे शमिल है। एजाज एक ही किताब अपनी पत्नी को नहीं दे पाए है। वो भी कुछ दिनों में दे देंगे। इस किताब का नाम भारत का संविधान है।

Leave a Comment