मस्जिद में बनाई लाइब्रेरी, बोले वेद प्रकाश- यह क्रन्तिकारी कदम इससे मुस्लिमों में …

उत्तर पूर्वी जिले के मुस्तुफा बाद इलाके की जामा मस्जिद की इंतजामिया समिति ने बच्चो को पढ़ना के लिए एक लाइब्रेरी शुरू की गई है। जिसमे उतरी जिले के ACP वेद प्रकाश ने मुख्य अतिथि के तौर परशिरकत करके प्रबंधन समिति के लोगी के साथ लाइब्रेरी का भी उदघाटन किया है।

उन्होंने इस मौके पर कहा है कि किसी भी समाज को इज्जत तभी मिल सकती है जब वह समाज शिक्षित हो। यही वह समाज धार्मिक संस्थानों के जरिये शिक्षा देना शुरू कर दे तो समझ लेना कि अब इंकलाब की शुरुआत हो चुकी है।इसके अलाव समाज और देश की तरक्की को कोई भी नही रोक सकता है।

libraries mosques india

वेद प्रकाश जी ने अपने सम्बोधन में आगे कहा कि मस्जिदों में लाइब्रेरी बनना अपने आप में बेहद ही ज्यादा बहुत अच्छा कदम है। मुस्लिम धर्म के हिसाब से अगर आपको सात समंदर पार भी जाना पड़े तो आपको जाना चाहिए। लाइब्रेरी एक ऐसी जगह जहां पर आप बिना मर्जी के पड़ सकते है ।

अगर लाइब्ररी मस्जिद में है तो इबादत के साथ साथ पढ़ाई भी हो जाएगी। उसके बाद कामयाबी आपके कदम भी चूमेगी। जामा मस्जिद में लाइब्ररी खुलना अपनेआप में एक मिसाल को कायम भी करेगी।सभी मस्जिदों में इससे सिख लेकर ऐसा ही करना चाहिए।

libraries mosques india

उन्होंने खुद से मुखातिब होकर कहा है कि अगर आपको कभी भी मेरी जरूरत पड़ती है तो मैं हमेशा आपकेसाथ खड़ा रहूंगा। इसके बाद सोफिया संस्था के अध्यक्ष सुहैल सैफी ने कहा है कि हमारी मस्जिदे शिक्षा का घर भी बने और बच्चे यहापर पढ़ने केसाथ साथ ही नमाज भी पढ़ सके।

Leave a Comment