तुर्की-लिबिया के इस समझौते ने एर्दोगन हुए विश्व के बड़े नेताओ में शामिल, अब एर्दोगन के अगले कदम से ..

तुर्की के राष्ट्रपति तैयब ए’र्दोगान को दुनिया में तेजी से उ’भरता हुआ ‘मु’स्लि’म ली’डर के रूप देखा जा रहा है। मौजूदा दौर में चीन, रूस की जुग’लबंदी के बीच तु’र्की बाकी मु’स्लिम देशों की अपेक्षा के बीच नई नई इबारत पेश कररहे है। तु’र्की ने को’रो’ना वा’इ’र’स से जूझ रहे कई देशो को मदद भी की है, इनमें अमेरिका जैसे सुपर देश भी शामिल है । बता दे, क’रोना काल मे तु’र्की ने दुनिया के 50 से अधिक देशों में पीपीई किट के साथ सेनिटाइजर, राशन सामग्री भी भेजा ।

राष्ट्रपति तैयब एर्दोगान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपने एक बयान में साफ़ किया कि तु’र्की ली’बि’या के अंत’रा’ष्ट्रीय स्त’र पर अल से’रा’ज के साथ अपना स’म’र्थ’न को और बढ़ाएगा। रॉय’टर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, वहां के सं’घर्ष को रा’ज’नी’ति’क रुप से हल किया जा सकता है। बीते दिनों ही तुर्की के बयान के बाद अंतराष्ट्रीय बा’जारों में ह’ड़’क’म्प म’च गया था। तु’र्की ने कहा कि वो 3 या 4 महीनों के बाद लीबिया में पूर्वी भू’मध्यसा’गर में ते’ल की खो’ज को शुरू करने वाला है।

libya turkey news

ए’र्दोगान ने कहा कि पूर्वी कमांडर खलीफा ह’फ्तार और उनके कई सम’र्थन शान्ति के लिए सबसे बड़ी रु’कावट है। बता दे कि जनरल हफ्तार ने अपनी सेनाओं को बीते महीनों में त्रि’पोली को और सै’नि’क मार्च करने का आ’देश दे दिया था। त्रिपो’ली के तीन बंदर’गाहों पर जन’रल के लोगो ने घेरा’बंदी के रखी है।

बीते साल दिसंबर में ह’फ्तार ने ली’बि’या के अंत’राष्ट्री’य मा’न्यता प्राप्त प्र’धान’मंत्री फा’येज अल से’राज से एक सम्मेलन में मुलाकात की थी मगर आधिकारिक रूप से वार्ता में शामिल होने के लिए इ’न’का’र कर दिया था। जनर’ल ‘ह’फ्ता’र को मि’स्र और सँयुक अरब अमीरात का समर्थन हासिल है। लीबिया में जनरल हफ़्फ़ार के सेना के साथ जंग एक साल से जारी है।

turkey-libya agreement

तीन हफ्ते पहले ही ली’बिया के प्रधा’न’मंत्री फाये’ज अ’ल से’राज ने कहा कि वो ‘लीबि’या की ज’मीन और स’त्ता को न’ही छी’न’ने दें’गे। मी’डिया रिपोर्ट्स की माने तो तु’र्की के दखल के बाद ली’बि’या, सी’रि’या में नई सर’का’र बनने का रास्ता साफ होता हुआ दिख रहा है ।

Leave a Comment