बांग्लादेश में सबसे बड़ा हाद’सा, नाव डू’बने से हाफिज, 2 मदरसों के इतने स्टूडेंट हुआ इन्त’काल, जानिए

दुनिया मे बड़े बड़े हा’द’से होते रहते है । लेकिन कुछ हा’द’से ऐसे होते है जो ब’रसो बरस तक याद किए जाते है । ता’ज़ा मा’म’ला बांग्लादे’श के है , सो’शल मीडि’या पर तस्वी’रें ते’जी से वा’यर’ल हो रही है जिसमें हाफि’ज और उनके परिवा’र का जिक्र करते हुए उनके इं’तेक़ा’ल की खबर है । बांग्लादेश न्यूज़ एजेंसी unb के अनुसार 48 लोगों का एक समूह जिसमे मदरसा टीचर , उनकी फैमिली और स्टूडेंट साथ थे ।

यह घटना बांग्लादेश के netrakona जिले की बताई जा रही है । gridhan tenga jamiul ulma madarasra जो जिला netrakona में है उनके टीचर shafiqul islam जो 40 वर्षीय हर उनकी भी इसमें डू’ब’ने से जा’न गई है । इसके अलावा उनके 10 बेटे समन, बेटी लुबना और मदरसा charsirta maksuda sunnah hafiazia जो mymensingh में टीचर waris uddin है उनकी 7 साल की बेटी zulfia akhtar की पहचान की गई .

madrasa teachers and students news

बांग्लादेश में हुआ भ’यं’क’र हा’द’से में करीब 17 लोगो की मौ’त हो गई है। बांग्लादेश के नेत्रकोना जिले में बुधवार को एक नाव डूबने से 17 लोग की मो’त हो गई है। नाव पर मदरसा टीच’र्स और स्टूडेंट का 48 लोगो का ग्रुप सवार था। यह सभी लोग नाव से उचितपुर से गिविंदश्री जा रहे थे।इसी दौरान हा’द’सा राजलिकण्डा इलाके के पास में हुआ।

बाद में इसकी पुलिस को जानकारी मिली इसके बाद मदन पुलिस स्टेशब के प्रभारी रमि’जुल हक ने बताया है कि मौस’म खरा’ब था। इसी दौरान करीब 12 बजे नाव पानी मे डूबी। घटना की सूचना मिलने के बाद ही फायर सर्विस और गोता’खोरों को रवाना किया गया। जब उन्होंने तीन बजे तक करीब 15 श’वो को निकाल लिया था। इनमे 6 बच्चे भी शामिल थे।

madrasa teachers and students news

पुलिस अधि’कारी ने बताया है कि इनमे से 30 लोग तैर’कर ब’च’क’र निकल गए थे। ना’व के डू’ब’ने के अभी तक कोई पता नही चला है। बांग्ला’देश में इस पूरे हादसे को रे’स्क्यू करने वाली टीम ने बयान जारी कर कहा है कि यह हा’द’सा बांग्ला’दे’श का सबसे ब’ड़े हा’दसा में से एक है। इस तरह का हाद’सा पहले भी कई बार हो चुका है।

Leave a Comment