कोरोना: फि’लिस्तीन में पैग़म्बर मोहम्मद (स.अ.व.) ने जिस म’स्जिद में पढ़ी थी न’माज़,वहां र’मजान महीने में नहीं …

कोरो’ना वा’इरस के बढ़ते मामलों को देखए हुए, इस्ला’म मे तीसरी पवित्र म’स्जिदे अक्सा को न’माज के लिए बन्द’ कर दिया गया था। बता दे, मस्जि’द ए अ’क़्सा को मु’सल’मानों का कि’बलाए अव्व’ल भी कहा जाता है । बता दे, फिलिस्ती’न से मुसलमानों का रिश्ता पहले जमा’ने से ही रहा है । यहां पर आ’खिरी पैग’म्बर मुहम्म’द मुस्तु’फा सल्ला’हु अलै’हि व’स्सलाम ने तमाम नबि’यों की इमा’मत की और यही वह पवित्र जगह है जहाँ से हज़रत मुहम्मद सल्लाहु अलैहि वस्सला’म मेरा’ज को गए थे ।

मुस्लि’म समुदा’य के सबसे पवित्र महीना रम’जान के आगाज़ से पहले मस्जि’दे अक्सा समेत दुनिया की सभी मस्जिदों को इबाद’त के लिए ब’न्द कर दिया जाएगा। यह पहली बार इतिहास में ऐसा हुआ है। जब र’मजा’न में इबा”दत के लिए म’स्जिदों को ब’न्द कर दिया गया है। पूर्वी ये’रुशलम में नमाज़ों के लिए 22 मार्च को घोषणा की गई थी। यहू’दी इस क्षेत्र को टे’म्पल माउंट कहते है।

1967 के अरब इजरा’इल यु’द्ध के समय, इज’राइल ने पूर्वी यरुश’लम पर क’ब्जा कर लिया था। जहां पर मस्जिदे अक्सा है।इरान में को’रोना वा’इरस के करीब 15 ,000 मामलो की पुष्टि हुई है। इसके अलावा 1000 से अधिक लोगो की मौ’त हो गई है। कोरोना वाइ’रस से निपटने वाले दल की अगु’वाई कर रहे अली रजा जाली के हवाले से ईरान की सरकारी समाचार एजेंसीइरना ने कहा है कि अगर यह स्थिति रही तो हमारे पास पर्या’प्त क्षमता नही रहेगी ।

जा’ली ने यह बात भी मानी है कि कोविड 19 की वजहसे जान गवाने वालो में कोई और बीमारी नही थी। ईरान में कई मशहूर ह’स्तियां भी कोरोना चपेट में है। वरिष्ठ उप राष्ट्रपति,केबिनेट मंत्री,संसद के सदस्य, रेवोलुनेरी गार्ड के सदस्य और स्वास्थ्य मंत्रालय के अफसरों समेत कई वरिष्ठ अधिकारी को’रोना वाय’रस से सं’क्रमि’त हो चुके है।

Leave a Comment