मिलिए इरफ़ान पठान की पत्नी सफा बैग से , सऊदी में जन्मी और करोड़ो की संपत्ति की है मालकिन

आज हम आपको भारतीय क्रिकेट टीम के सितारे रहे इरफ़ान पठान बारे में जानकारी देंगे। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज इरफान पठान की पत्नी सफा बेग कि हमे बात कर रहे है। वैसे तो इरफ़ान पठान की तरह ही उनकी पत्नी बहुत फेमस है। जो दिखने में बहुत ही ज्यादा खूबसूरत है। सफा बेग जो कि मिडल ईस्ट की मशहूर मॉडल है। इसके साथ ही वो नेल आर्टिस्ट के रूप में भी बहुत ज्यादा मशहूर है। हमने उन्हें अक्सर इरफ़ान सोशल मीडिया पर देखा है।

इरफान पठान की पत्नी सफा बेग के पिताजी का नाम मिर्जा फारुख बेग है। इनकी चार बहने है जिनमें से सबसे बडी बहन का नाम sidra है। आपको बता दे , सफा बेग का जन्म सऊदी अरब के जेद्दाह में हुआ था। इरफान पठान से शादी करने के बाद वो इंडियन नेशनलिटी रखती है। सफा बेग और इरफान पठान की शादी 3 फरवरी 2016 में हुई थी। सफा इरफान पठान से 10 साल बड़ी है। सफा बेग के पसंदीदा मशहूर बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान है।

इरफ़ान की पत्नी जो सऊदी में जन्मी है उनकी पसंदीदा एक्टर्स में कैटरीना कैफ का नाम शामिल है। इरफान पठान एक मशहूर क्रिकेटर है। लेकिन वो भारतीय टीम में कई दिनों से शामिल नही है। इरफ़ान पठान क्रिकेट कमेंट्री करते हुए नजर आते है इसके साथ ही वह कश्मीरी युवाओं को क्रिकेट की ट्रेनिंग भी देते है। वह भारतीय टीम के प्रतिभावशाली खिलाड़ियों में शुमार किए जाते है। इसके साथ ही वह समाज सेवा का कार्य भी करते है।

पिछले दिनों इरफान पठान और उनके भाई युसूफ पठान ने अपने गृहनगर बड़ोदरा में एक बेहतरीन काम को अंजाम दिया। बता दे , बड़ोदरा में काफी ज्यादा बारिश हो जाने की वजह से लोगो की जरूरत को पूरा भी किया था । वो एक मददगार इंसान के रूप में भी सामने आए है। इस साल भारी बारिश के आने से कई राज्यो में तबाही का आ’लम बरपा रहा है। गुजरात राज्य में बड़ोदरा में भारी बारिश हो रही है।

ऐसे में लोगो की मदद करने के लिए भारतीय आल राउंडर इरफान पठान और यूसुफ पठान ने कई जिम्मेदारी को पूरा भी किया । इन खिलाड़ियों ने जरूरतमंद लोगों की जरूरत और खाने का इंतजाम भी किया। भारी बारिश के चलते बड़ोदरा से बहकर बहने वाली विश्वमित्री नदी उफान पर है। उसका जल स्तर 28.15 फिट है दो दिन पहले इसका स्तर 34.4 फीट था ।

हालांकि अभी पानी उतर रहा है लेकिन बारिश हो रही थी। उस समय शहर में काफी बारिश हुई थी। शहर के बहुत से इलाके पानी मे डूबे हुए थे और बिजली भी गुल है। ऐसे समय में ये इन दोनों भारतीय आल राउंडर ने अपना फर्ज निभाते हुए आगे आए। तब बारिश के चलते हुए बिजली और टेलीफोन लाइनों को काफी नुकसान पहुँचा था। जिसके बाद राहत और बचाव कार्य की जरुरत थी।

एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव का काम कर रही है । यह पर 24 घंटो में 500 मिमी बारिश हुई थी। बाढ़ के पानी के साथ साथ माध्यम आकार के 7 मगरमच्छ बड़ोदरा के आवासीय क्षेत्रो में पहुच गए, जिन्हें वनविभाग के अधिकारियों ने दो दिन के अंदर पकड़ भी लिया। बड़ोदरा और आपसी क्षेत्र के करीब57,00 से अधिक लोगो को बाहर निकाला गया ।

Leave a Comment