मुस्लिम भाईयों की मदद से बची हज़ारों मरीजों की जान, कोरोना मरीजों को मुफ्त मिले ऑक्सीजन इसलिए बेचीं SUV, जानिए ऐसा क्यो किया

को’विड 19 के चलते हुए हर किसी ने प’रे’शानी का सामना करना भी पड़ा है। को’रो’ना वाइ’र’स से लोक डाउन की वजह से कई लोगो की जा’ने भी गई है। इतना ही नही प्रवासी म’ज’दू’रों ने अपनी मंजिल का सफर पैदल ही तय किया है। एक तरह जिस तरह से मु”स्लि’मो के खि’ला’फ न’फ’र’ते फै’ला’ई जाती है ठीक उसी के विपरीत ही मु’स्लि’म स’मा’ज के कई लोग आज भी मदद के लिए आगे आ रहे है .

मु’स्लिम समाज से ताल्लुक रखने वाले एनजीओ चलाने वाले एक मलाड निवासी ने अपनी एसयूवी कार ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदने के लिए बेच दी। जिससे वो को’विड 19 में होम क्वोरन्टीन में रहने वाले जरूरतमन्द मरीजो को समान मुफ्त में दे सके।यूनिटी एंड डिग्निटी फाउंडेशन चला रहे शाहनवाज शेख और अब्बास रिजवी ने लोक डाउन के शुरुआती दिनों में ही जरूरतमन्द लोगो को राशन किट मुहैया भी कराए है ।

Mumbai Man Sold His SUV To Provide Free Oxygen Cylinders

शाहनवाज ने बताया कि हमने प्रवासियों की मदद के लिए लोक डाउन के शुरुआती दिनों में अपनी सारी बचत को खर्च कर दिया. अब्बास ने बताया कि उनकी चचेरी बहन जो छह महीने की ग’र्भवती थी और अस्पताल में बिस्तर नही होने की वजह से उनकी मौ’त हो गई। अब्बास ने बताया कि हमने उ’पचार को समझा।

सास की तक’लीफ ओर उसके परिवार ने बिना किसी लाभ के कई अ’स्पतालों में सम्पर्क भी किया। पिछले महीने मुब्रा में एक ऑटो में मौ’त हो गई।कोई भी इंसान इस तरह से म’र’ने’ का ह’क’दा’र न’ही है। हमने फैसला किया और अपनी कार को 4 लाख रुपए में बेच दिया। हमने 60 ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे। उन्होने बताया कि शहनवाज और अब्बास को एक दिन में 25 से 30 सिलेंडर लेने के लिए अनुरोध मिलते है।

जो लोग रिलीफ कर सकते है वो इसे अपने दम पर कररहे है।शेख ने आगे बताया कि हमारा उद्देश्य सिर्फ सेवा प्रदान करना है। जिससे दुसरो लोगो की जान बचा’ई जा सके। कोरोना के लगातर मामले बढ़ते जा रहे है अब तक 7 लाख लोग को’रोना से संक्रमित हुए है। भारत दुनिया मे सबसे ज्यादा केस में तीसरे पायदान पर पहुँच गया है ।

Leave a Comment