मुंबई की कांस्टेबल ने रेहाना शेख ने पेश की मिसाल, 50 जरूरतमंद बच्चों को लिया गोद, दुनिया कर रही सलाम

देश मे ऐसे कई लोग आज भी रहते है जो ड्यूटी के साथ साथ ही वो अपने क’र्तव्य को भी निभाते है। ऐसे ही एक महि’ला कं’स्टेबल मु’म्बई की रहने वाली मुस्किम समा’ज की एक कां’स्टेबल महि’ला ने एक मि’साल को पेश किया है। कां’स्टेबल की नोकरी करते हुए

रेहाना ने 50 जरूर’तमंद बच्चो को गोद लेने का जिम्मा भी उठाया है। इसके अलावा वो को’रो’ना सं’क्रमि’तों की मदद कर चुकी है।एएन’आई से बात करते हुए रेहाना शेख ने बताया है कि मेरे दोस्त ने मुखे एक स्कूल की तस्वी’र भी दिखाई। उंसके बाद मुझे इस बात का एह’सास हुआ कि इन बच्चो को मेरी मदद की जरूरत है।

मेने 50 बच्चो को गोदभी लिया है। मैं 10 कक्षा तक उनकी शिक्षा का वहन ख़र्च भी करूँगा। मी’डिया रि’पोर्ट के मुता’बिक मानवता की मिसाल पेश करने वाली कांस्टेबल रेहाना शेख को मु’म्बई पु’लिस के क’मिश्नर हे’मंत न’गरा’ले ने उन्हें सम्म’नित भी किया है।

बता दे कि ड्यूटी के साथ ही समाजक जिम्मेदारी का निर्वहन करने के लिए कमिश्नर ने उन्हें अपने ऑफिस में सर्टि’फिकेट देकर भी सम्मनित किया है।गौरतलब है कि रेहाना के पिता अब्दुल नबी भी मुंबई पु’लिस की सेवा में का’र्यरत थे। वही उनके पिता भी police विभा’ग में ही है जो

Mumbai Police constable Rihanna Sheikh

रेहाना को मदर टेरेसा कहते है। रेहाना शेख एथ’लीट ओर वॉलीबॉल खिलाड़ी भी है। इन्होंने साल 2017 मेंश्रीलंका में अपनी पु’लिस फो’र्स का प्रतिनि’धित्व किया था। इस दौरान उन्होंने दो गोल्ड और एक सिल्वर मेडल अपने फोर्स के नाम भी जीता था।

Leave a Comment