कोरो’ना के खौ’फ से बेटे ने पिता की ला’श लेने से किया इंकार, फिर मुस्लिम शख्स ने किया अंति’म सं’स्कार

खुद को को’रो’ना न हो जाए इस ड’र से एक बेटे ने अपना बा’प की ला’श लेने से बि’ल्कुल म’ना कर दिया। जब यह बात इला’के के समा’जी का’र’कुनों को लगी तो उन्होंने ला’श का अंतिम सं’स्कार पूरे हि’न्दू रीति’रिवा’जों सेआ’खरी बार किया है। यह मा’मला म’हारष्ट्र के अको’ला का है।

म’हापालिका के एक अफ़’सर प्रशा’न्त राजुर’कर ने बताया कि 2दिन पहले एक बूढे शख्स की को’रो’ना की वजह से मौ’त हो गई थी। जिसकी काग’जी कार्य यही करने के बाद इंतेजा’मिया ने श’ख्स के घर वालो को जानकारी दी लेकिन घर से उनका श’व ले’ने के लिए को’ई न’ही आया है।

muslim help 2021

जिस बा’प ने एक बेटे को ज’न्म दिया। उसे उसके आ’खरी व’क्त में बेटा दे’खने भी नही आया। उन्होंने कहा है कि ऐसी वा’रदा’ते देखकर म’नको का’फी ध’क्का’ भी लगता’ है।अफ’सर ने बता’या कि मरने वाले श’क्स के घर मे उस’के बे’टे है।

बेटा’ नाग’पुर में रह’ता है जब उसे अपनेवाली’द की ‘मौत की ख’बर लगी तो वो अको’ला आ गया।लेकिन अब उसको को’रोना न हो जाए इ’स ड’र से उसने बा’प को कं’धा लगा’ना तो दूर की बात अपने पिता को दे’खने भी नही आया।

muslim help 2021

जिसके बाद जा’वेद जका’रिया ने कहा है कि हिंदुस्ता’नी स’माज का जो ताना बाना है। जिसमे लोग बगैर मज़’हब, जाती देखे एक दूस’रे की मद’द के लिए आगे भी आते रहते है।उसे अब कोई भी बीमा’री ख’त्म न’ही कर स’कती है। एक ऐसा ही माम’ला बिहा’र के दरभं’गा जि’ले का देखा गया है।

Leave a Comment