देश के सबसेे युवा IAS मेें से एक होगी कश्मीर की नादिया बेग, बोली- मेरे इलाके के लोग मुझसे सीखेंगे और ……

यूपीएससी 2019 का परिणाम 4 अगस्त 2020 को आ गया है। देश की सबसे बड़ी परीक्षा मानी जाने वाली यूपीएससी में कुल 44 पास मुस्लिम कैंडिडेट ने बाजी मारी। इन में से जिन कैंडिडेट ने बाजी मारी है उनकी कहानी प्रेणादायक है । उनके संघर्ष को सभी सलाम कर रहे है , इन्हीं में से एक कश्मीर की नादिया जिन्होंने दूसरे अटेम्प में इस परीक्षा को क्रेक किया है ।बता दे, नादिया देश की सबसे कम उम्र में यूपीएससी क्लियर करने वाली कैंडिडेट बताया जा रहा है ।

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के रहने वाली 23 साल की नदियां बेग ने संघ लोक सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की है। नादिया ने इन परीक्षा के 350वी रेंक हासील की है। इनके माता पिता सरकारी टीचर है। नादिया कश्मीर में 12 वी तक सरकारी स्कूल में।पढ़ी है । इसके बाद उन्होंने दिल्ली का रुख किया और जामिया मिलिया इस्लामिया में आगे की पढ़ाई की। नई दिल्ली से उन्होंने इकोनॉमी में ग्रेजुएशन किया हुआ है।

nadia baig ias 2020

नादिया ने अपने एक इंटरव्यू में बताया है कि ये मेरे लिए दूसरा चांस था इसलिए मैंने दिल्ली आकर पढ़ाई की। कुपवाड़ा के पुंजवा गांव में कक्षा 12 की परीक्षा पास करने के दिन ही उन्होंने आईएएस बनने का ख्वाब देखा था। नादिया ने अपनी स्कूली शिक्षा कुपवाड़ा के सरकारी स्कूलों से की। 12 वी के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया से ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के लिए दिल्ली आ गई ।

2017 में ग्रेजुएशन करने के बाद यूपीएससी की तैयारी शुरू की। नादिया ने अपनी परीक्षा में पास होने का श्रय अपने परिवार और भाई की दिया। उन्होंने बताया कि मेरे भाई ने सिविल सेवाओं के लिए पढ़ाई के दौरान मुझे प्रोत्साहित किया । उसकी दो बहनें SKIMS में MBBS कर रही है औरउनके भाई ने BBA पूरा कर लिया है।बता दे, यूपीएससी में कुल 829 कैंडिडेट फाइनल सेलेक्ट हुए है ।

nadia baig ias 2020

इससे पहले सितंबर 2019 में लिखित परीक्षा हुई थी, इसके बाद मौखिक फरवरी 2020 से अगस्त 2020 तक चले इसके बाद फाइनल कैंडिडेट 829 पास हुए । बता दे, इस परीक्षा को लेने वाले आयोग को corona के कारण काफी मशक्कतों का भी सामना करना पड़ा था ।

फरवरी 2020 से शुरू हुए यूपीएससी के साक्षत्कार को;रो’ना के कारण बीच मे ही रोक दी गए थे फिर 20 जुलाई से इसके साक्षत्कार दुबारा शुरू हुए । बता दे, इस बाद यूपीएससी कैंडिडेट को मौखिक के लिए विमान से बुलाया गया था । इसका किराया आयोग ने दिया, ये पहली बार हुआ जब आयोग को को’रो’ना के कारण ऐसा करना पड़ा ।

Leave a Comment