रात को ना’ख़ून का’ट’ना कैसा है ? ह’ज़रत अ’ली ने फ़रमाया

इ’स्ला’म में सा’फ सफाई का ख़ास ध्या’न दिया जाता है। साफ सफ़ाई रखने से हम कई तरह की बी’मा’रि’यों से ब’च’ते है और हम अपने आ’प को ताजा म’ह’सू’स करते है। अ’ल्ला’ह ने भी बहुत सी जगह सा’फ स’फाई रखने को कहा है। हम जब न’मा’ज प’ढ़’ते है , न’मा’ज से पहले पां’च बार व’जू बनाते है। व’जू बनाने से हमारे शरीर के कई हि’स्सों में स’फा’ई हो जाती है। सा’फ स’फा’ई इं’सा’न के लिए ब’हु’त ही जरूरी है।

इस बात से ह’में मा’लू’म प’ड़ जाता है कि सा’फ स’फा’ई की बात आती है तो सबसे पहले ना’खू’न की बात जरूर आती है। ऐसा माना जाता है कि जो श’ख्स ना’खू’न स’मय पर का’टे’गा , वो कई बी’मा’रि’यों से ब’च जा’ये’गा। ब’ड़े ना’खू’न होने का म’त’ल’ब है कि आप अपने अं’द’र बी’मा’रि’यों को ले रहे है। अगर आपके ना’खू’न बड़े है तो उसमें गं’द’गी फं’स जाती है। वो ही ग’न्द’गी खा’ना खा’ते व’क्त अं’दर च’ली जा’ती है।

इ’स्ला’म मे ना’खू’नों को समय समय पर का’ट’ने की इ’जा’ज’त दी है। ना’खून किस समय का’ट’ना है । यह ब’हु’त ज’रू’री है। इस बारे में ह’ज’र’त अ’ली के एक वा’कि’ये से स’म’झ’ना स’ही है। एक बार की बात है शे’रे खु’दा ह’ज’र’त अ’ली अपने घर जा रहे थे, ये रा’त का वक्त था। रास्ते में एक आदमी अपने ना’खूनों को का’ट रहा है, ह’जरत अ’ली उसे देखकर रुक जाते हैं, उस इं’सान के पास त’श’री’फ़ ले जाते है।

उस से कहते है कि ए श’ख्स अ’ल्ला’ह के र’सू’ल ने रा’त को ना’खू’न का’ट’ने से म’ना फ’र’मा’या है। वो शख्स ह’ज’र’त मौ’ला’ अ’ली से सवाल करता है कि ऐसा क्यों किया कि रा’त में ना’खू’न का’ट’ने से म’ना फरमाया है। ह’ज’र’त मौ’ला अ’ली फरमाते है कि ह’ज’र’त आ’द’म अ’लै’हि’स्स’ला’म जब ज’न्न’त में थे तो उनकी बी’वी ह’ज’र’त ह’व्वा को लो’हे के धा’तु का लि’बा’स प’ह’ना’या गया था। लेकिन जब ह’ज;र’त आ’दम को ज’न्न’त से ज’मी’न पर उतारा गया तो यह लि’बा’स भी उनके जि’स्म से उ’ता’र लि’या ग’या था।

वो आगे कहते है कि उनके हा’थ और पै’र पर कुछ नि’शान रह गए थे। इसलिए ये नू’र है । इसको रा’त में न’ही का’ट’ना चा’हि’ए। अ’ल्ला’ह त’आ’ला को ये पसंद न’ही है कि रा’त को नू’रा’नी हि’स्से को का’टा जा’ए। ना’खू’नों को जब भी का’टा जाए तो एक साथ करके कू’ड़े में डा’ल दे। जब ना’ख़ू’न का’टे तो हमें घ’र से बा’ह’र का’ट’क’र बाहर फे’क दे’ना चाहिए। हम स’भी को रा’त में का’ट’ने से ब’च’ना चा’हि’ए।

Leave a Comment