नवाब मलिक: एक कबाड़ी वाले के महाराष्ट्र का मंत्री बनने का सफर

शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की ड्र’ग मामले में गि’रफ्ता’री के बाद से ही नवाब म”लिक को हर कोई जानता भी है। वह लगातार ही नाट’को’टिक्स ब्यू’रो कंट्रो’ल मु’म्बई के डिविज’नल डा’यरेक्ट्स समी’र वान’खड़े के का’र्यवाही भी कररहे है।

बता दे कि ड्र’ग्स के मा’मले में आ’र्यन खान को ‘गि’र’फ्तार किया गया था अब उनकव बे’ल भी मिल गई है। को’र्ट ने कहा है कि आर्यन किसी से बिना पूछे बाहर नह जा सकते है।आ’र्यन खा’न की रिहा’ई हो’ने के बाद नवा’ब मलि’क ने ट्वि’टर पर ट्वीट करते हुए लिखा था कि

Nawab Malik Vs Sameer Wankhede

पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त। क्योकि वह समीर और उनके परिवा’र की जां’च में लग हुए थे। बता दे कि नवाब म”लिक मूल रुप से यूपी के बलरामपुर के रहने वाले है। उनकेप’रिवार के पास खेती भी है। नवाब मलि’क का जन्म 20 जून 1959 को यूपी के बल’रा’मपुर में हुआ था।

नवाब मलिक ने बीजे’पी सर’कार की आलो’चनाओ के बाद कहा कि मैं एक कबा’ड़ीवाला हूं। मेरे पिता मुम्बई में कपड़े और क’बाड़ का कामभी किया करते थे। उन्होंने आगे बताया कि मैने वि’धा’यक बनने तकभी इस काम को किया है। मेरा परिवा’र अब भी इस काम को करता है। मुझे इस बात पर गर्व है।

Nawab Malik Vs Sameer Wankhede

बता दे कि साल 1980 में संज’य गां’धी की मृ’त्यु हो जाने के बाद उनकी पत्नी मे’नका गां’धी नेसंज’य के विचार मंच नामक एक अलग समू’ह भी बनाया था। उसमें नवा’ब म’लिक भी जुड़े थे।

Leave a Comment