दमदार एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीक़ी का दुनिया ने माना लोहा, मिला ब्रिटेन में ड्रैगन गोल्डन अवॉर्ड, हुए भा’वुक

कहते है हिम्मत रखोगे, मेहनत करोगे तो एक न एक दिन अपना मुकाम पा लोगे । जी हाँ, सही पढ़ा आपने। हम आज बात करने वाले है नवाजुद्दीन सिद्दीकी की । नवाजुद्दीन सिद्दीकी 19 मई 1974 को उत्तरप्रदेश में पैदा हुए। फ़िलहाल नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक भारतीय फ़िल्म अभिनेता है। यह कई बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके है। और सिद्दीकी हाल ही में सुर्खियों में चल रहे है।

लेकिन क्या आपको बता है, एक सांवला दुबला पतला लड़का आज सभी के दिलों पर राज क्यों कर रहा है । जी हां , ये सवाल आपके लिए साधारण हो सकता है लेकिन जब यही सवाल एंकर ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी से पूछा तो वो कुछ देर चुप रहे और गहरी सांस छोड़कर बोले कि मैं पिछले 10 सालों से इसी इंडस्ट्री में हु लेकिन लोगों ने आज पहचाना । इसके पीछे की वजह बताते है जो किसी को भी हैरान कर सकती है ।

nawaj uddin

वह कहते है कि लोग मेरा मज़ाक उड़ाते थे,कहते थे तू हीरो बनेगा । लेकिन नवाज़ ने ठान लिया था वो इसका जवाब एक्टर बनकर ही देंगे । फिर क्या था ,नवाज ने लंबे वक्त तक छोटे छोटे रॉल में काम किया लेकिन हिम्मत नहीं हारी फिर एक दिन ऐसा भी आया कि ये दुबला पतला से दिखने वाला सावला लड़का आज सबका चहेता बना हुआ है । इनकी एक्टिंग का लोहा देर से ही सही लोगों के समझ आया ।

आपको बता दे कि नवाजुद्दीन को सिनेमा ने उनके योगदान के लिए कार्डिफ इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल में गोल्डन ड्रेगन अवार्ड से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार उनको यूके के काउंसिल जनरल ऑफ वेल्स, मिक एंटोनियो द्वारा प्रदान किया गया है। नवाजुद्दीन ने अपने सोशल मीडिया पर लिखा है कि मुझे इस प्रतिष्ठित गोल्डन ड्रेगन अवार्ड से सम्मानित करने के लिए शुक्रिया।

nawaj-siddiqi

उन्होंने आगे लिखा कि वैल्स के काउंसिल जनरल मिस्टर मिक एन्टोनीव और कार्डिफ इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल् को धन्यवाद । यहां तक कि दिग्गज अभिनेत्री जुड़ी डेंच को भी इवेंट में लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड मिला। उन्होंने कहा लाइफटाइम अचीवमेंट पुरुस्कार प्राप्त करने के लिए जुड़ी डेंच को बधाई। अगर काम की बात करे तो आने वाले समय मे नवाज फ़िल्म ‘मोतीचूर चकनाचूर ‘में नजर आएंगे।

Leave a Comment