कश्मीर पर मुस्लिम देशों के संगठन OIC के बयान पर भारत ने खूब सुनाया, कहा- हमारे आंतरिक मामले में ….

भारत ने मुस्लिम देशो के सबसे बड़े समूह ओआईसी द्वारा ज’म्मू क’श्मी’र पर दिए गए बयान को बीते दिनों ही खा’रिज भी कर दिया है और मु’स्लि’म दे’शो के संगठन से कहा है कि उसे देश के आं’तरिक मा’मलो पर टि’प्पणियों के लिए अपने मं’च का फा’यदा उ’ठाने के लिए अनुमति देने से भी उन्हें ब’च’ना चाहिए। विदेश मंत्रालय ने इस मामले में क’ड़ी टिप्पणी भी की है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिमदम बागची ने कहा है कि हम कें’द्र शा’षित प्र’देश ज’म्मू ‘क’श्मी’र को लेकर ओआईसी के महासचिव द्वारा जारी एक और अस्वी’का’र्य बयान को भी स्पष्ट रूप से ख़ा’रिज करते है। बागची ने आगे कहा है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर से स’म्बं’धित मामलो में ओआईसी को ह’स्त’क्षे’प करने का कोई अधि’कार न’ही है

OIC statement kashmir

जो भारत देश का एक अ’भि’न्नय अं’ग भी है। इस बात को दोहराया जाता है कि ओआईसी महास’चिव को भारत देश के आं’त’रिक मा’मलो पर टि’प्प’णियों’ के लिए अपने मंच का फा’यदा उठाने को अनुम’ति से भी ब’च’ना चाहिए। इसके बाद केंद्र सरकार ने अ’नु’च्छेद 370 के तहत ज’म्मू ‘क’श्मी’र को मिले

विशेष राज्य के दर्जे को पांच अगस्त 2019 को र’द्द भी कर दिया गया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश जम्मू क’श्मी’र और ल’द्दाख में भी बांट दिया था। एक बयान में महा सचिवालय ने इन सभी कदमो को र’द्द करने की मांग भी की है।

OIC statement kashmir

ओआईसी महासचिव ने अंत’रा’स्ट्रीय स’मु’दाय से फिर से उस बात को लेकर आहा’न किया है कि संयुक्त राष्ट्र सु’रक्षा परि’षद के प्र’स्ता’वों के मुताबिक ज’म्मू क’श्मीर के मु’द्दे को ह’ल करने के लिए उंसके प्र’या’सों को ते’ज भी किया है।

Leave a Comment