माँ ने कहा था- रमजान में मरी तो जलाना नहीं, फिर हिन्दू महिला को उसकी बेटी ने कब्रिस्तान में दफनाया

पुणे की रहने वाली एक बेटी ने अपनी माँ की अंतिम इच्छा के मुताबिक ही उसका अंति’म सं’स्का’र मुस्लि’म रीति’रि’वाजों से करवाया है। दैनिक भास्कर की न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार पुणे की इंदिरानगर की रहने वाली छगनबाई किशन ओव्हल ने अपनी बेटी लक्ष्मी से कहा था कि अगर उसकी मौ’त रम’जान के महीने में होती है तो

उसे जलाया नही बल्कि दफ’ना’या जाएगा। बेटी ने अपनी माँ का मान रखने के लिए ऐसा ही किया है। उनको जय जवा’न क’ब्रि’स्ता’न में द’फना’या गया है।लक्ष्मी ने बताया है कि उसकी माँ गठि’या की त’कलीफ में थी और उनका घर पर ही इ’ला’ज चल रहा था।

pune news

बीते दिन ही उनकी तबि’यर ज्या;दा खरा’ब हो गई थी। शिवजी नगर के जम्बो अस्पताल में ले जाते समय उनका नि’धन रा’स्ते मे ही हो गया।ध’र्म से हि’न्दू होने की वजह से अंतिम sanskar मुस्लि’म क’ब्रिस्तान में करने के लिए अस्प’ताल कर्मी भी हैरान थे । ल’क्ष्मी की जि’द की वजह से ही वी रा’जी हुए।

उनकी माँ को’रो’ना पॉ’जि’टिव भी पाई गई थी। लक्ष्मी ने बताया है कि यह उनकी माँ की अं’तिम इच्छा थी कि उनको रम’जान के महीने में मौ’त हो जाती है तो कब्रि’स्तान में दफ’नाना ।इसके बाद लक्ष्मी ने अ;नापत्ति पत्र लिखवाया औऱ जिला प्रशासन से भी इस बात की मंजूरी ली।

pune news

रात को दो बजे सभी काग’जी कार्य’वाही पूरी कर श’व को सुबह क’ब्रिस्ता’न लाया गया। इसके बाद मूल निवासी मु’स्लिम मंच अध्यक्ष अंजुम ईमान’दार समेत कई muslimo ने नमाज भी अदा की। इसके बाद उनको द’फना’या गया।

Leave a Comment