सैमा उबैद ने रचा इतिहास, ऐसा करने वाली कश्मीर की पहली मुस्लिम महिला बनी, वीडियो देखें

ऐसे तो महिलाएं हर क्षेत्र में अपने नाम को आगे बढ़ाने को लेकर हर तरह के प्रयास कर रही हैं। कश्मी’र कि रहने वाली एक महिला ने भी अपने नाम को आगे बढ़ाया है। सायमा उबेद कश्मीर कि पहली महिला है जो पॉवर लिफ्टिंग को अपना करियर चुनकर काम भी कर रही है।

पिछले साल कश्मीर मै चो थे पॉवर लिफ्टिंग बेंचप्रेस और डेडलिफ्ट चैंपियनशिप आयोजन भी हुए था। सायमा ने इस प्रतियगिता में 225 किलो वजन उठाकर गोल्ड मेडल हासिल किया था। बता दे कि सायमा के पति उबेज हाफिज एक पॉवर लिफ्टिंग है। उन्होंने है सायमा को यह चुनने की सलाह भी दी थी।

saima ubaid

उबेज़ ने सायमा को पॉवर लिफ्टिंग कि ट्रेनिग भी दी। सायमा उन महिलाओं के लिए मिसाल बनना चाहती है जो किसी सामाजिक दवाब के चलते हुए अपने सपनो को पूरा नहीं कर पाती है।सायमा ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि उन्होंने अपनी शादी और दो बच्चे हो जाने के बाद भी अपने इस स्पोर्ट्स को जारी रखा है।

वो इस बात को साबित करना चाहती है कि महिलाएं हर हाल में अपने सपनो को पूरा करने का हौसला भी रखती है।सायमा के मुताबिक, अगर आप किसी काम को पूरी लग्न के साथ करना चाहे तो दुनिया कि कोई ताकत उस करने से आपको कभी भी रोक नहीं सकती है।

saima ubaid

सायमा के पति का कहना है कि उन्होंने सायमा को सिर्फ सही रास्ता दिखाया है।लेकिन इस रास्ते में सायमा खुद अपनी मेहनत से आगे बढ़ी है। सायमा ने श्रीनगर के गवर्मेंट कॉलेज से होम साइंस में ग्रेजुएट है। फिलहाल सायमा अभी लिफ्टिंग मे ट्रेनिग दे रही है।

Leave a Comment