कनाडा की यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोरंटो से आया जामिया की प्रोफेसर समीना हसन के लिए आमंत्रण

जा मिया मिलि’या इस्ला’मिया के सेंटर ऑफ कम्परे”टिव रि’लीजन एंड सिवि’लाइजेशन की प्रोफे’ser स’मीरा हसन सि’द्दिक़ी को टोरंटो यूनिवर्सिटी, कनाडा से अपने सेंटर ऑफ एथिक्स में जुलाई 2022 से एक साल के लिए विजि’टिंग प्रोफे’क्सर के रूप में आमंत्रित किया गया है।

प्रोफेसर समीरा सिद्दिकी को यूनि’वर्सिटी के इंटेलेक्चुअल लाइफ में भाग लेने और अनुसंधान करने के लिए आमंत्रित किया गया है। जिसमे वार्ता और कार्यक्रमो में भाग लेना भी शामिल है। इस दौरान उन्हें अपना रिसर्च प्रस्तुत करने का भी अवसर मिला है

बता दे कि प्रो’फेसर समीरा सिद्दिकी साल 2015 के जमिया में शामिल हुई थी। उनकी विशेषज्ञ का क्षेत्र मध्यकालीन भारत सामा’जिक सास्कृ’तिक इतिहास है। जिसमें सूफीवाद और बहुलवादी भारतीय रहस्यमय परिदृश्य पर बहुत ही ज्यादा ध्यान दिया गया है। धर्म की भूमिका और इसकी बहुआयामी समझ कर उन्हें कई शोध पत्र प्रस्तुत और प्रकाशित भी हुए है।

जा मिया मि’लिया इस्ला’मिया के यूनिवर्सिटी काउंसिल एंड गाइडेंस सेंटर के मुताबिक 23 मार्च 2022 को इम्पोटेंस ऑफ सेल्स बॉ’न्डिंग एंड पब्लिक रिलै’शन्स एंड करंट सिनेरियो पर एक ऑनलाइन। व्याख्यान लजे आयोजन किया गया है। जिसमे कई गैर शिक्षण, कर्मचारी और 50 से अधिक छात्र इस कार्यक्रम में शामिल भही हुई है।

उन्होंने इस बात पर जोर देकर कहा है कि मूल्य’वान परिणाम तक पहुँचने के लिए अपनीं क्षमता की पह’चान करना और इसे प्र’भावी ढं’ग से इस्तेमाल करना बहुत ही जरूरी है। जा मिया मिलिया हर रोज नए ‘की’र्तिमा’न स्थापि’त कर रहा है।

Leave a Comment