प’त्रकार के मा’मले में तुर्की और सऊदी आमने सामने,तु’र्की ने अरब को लगाई फ’टकार तो आया सऊदी का मुं’हतोड़ जवाब

दुनिया मे काफी तेज़ी जे विकास के मामले में आगे बढ़ रहे सऊ’दी अर’ब और तु’र्की से बड़ी ख’बर सामने आ रही है । बता दे, सऊदी अरब और तु’र्की मु’स्लि’म जग’त के सबसे पॉ’वरफु’ल देश माने जाते है । बीते साल , पत्र’कार ख’गोशी ने काफी सुर्खियां बटौरी थी और दो मु’स्लि’म देशों के बीच काफी त’ना’त’नी देखने को मिली थी । तुर्की सर’कार के लिए संचार प्रमुख फहा’ट्रिन ने पत्रकार जमा’ल ख’गोशी की ह’त्या पर स’ऊदी अरब की अदा’लत के फैसले की क’ड़ी निं’दा की है।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक इस फैसले के अनुसार उन लोगों को ब’री कर दिया है, जिन्होंने उसे कथि”त तौर पर उन्हें मारने का आदे’श जारी किया था। मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, मीडिया और प्र’काशन आउट’लेट मी”डियम पर एक लेख लिखा गया है । जिसमें अल्तू’न ने कहा है कि जिन्होंने खगो’शी की मौ”त के वारं’ट पर सा’इन किए है। उन्होंने तुर्की की राजधानी इस्ताम्बुल में एक मौ’त के द’स्ते को भेज दिया।

इसके अलावा मा’रे गए पत्रकार के शरीर को गा’यब कर दिया था। बता दे, ख’गोशी मामले की काफी जाँच हुई थी। इसमें तीनों परीक्ष’णों के माध्यम से दो’षी ठहराया गया था। बता दे, इसमें प्रेस की स्वतं’त्रता और अ’भि’vक्ति की स्व’तंत्रता की अ’वहे’ल’ना की गई है। जमा’ल ख’गो’शी सऊ’दी अरब के एक बहुत बड़े पत्र’कार, लेखक और अल अरब न्यूज़ चैनल के पूर्व म’हाप्रबं’धक और प्रधा’न सम्पा’दक थे।

जिनकी इस्ताम्बुल के स’ऊदी अ’रब वाणिज्य दू’ता’वास पर 2 अक्टूबर 2018 को कथित तौर पर ह’त्या कर दी गई थी। बता दे,खगोशी मामले ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खूब सुर्खियां बटौरी थी । इनके अलावा स’ऊदी और तु’र्की में रि’श्ते का’फी त’ख़्त हो गए थे । बता दे, इन्होंने अपनी शिक्षा इंडियाना स्टेट यूनिवर्सिटी से की थी।

इसके बारे में तु’र्की के राष्ट्रप’ति ने देश की संसद में एक बड़ा बया’न दिया था। इस ब’यान में उन्होंने कहा था कि इस मा’मले पर कई चीजो पर गौर किया जा रहा है। सऊदी वाणि’ज्यिक दूता’वास की दीवा’रों और फर्श पर पेंट कर रखा था। इसके ऊपर कोई ज’ह’रीला प्रदा’र्थ था। हमारे जांच’कर्ता इस ज’हरीले प्र’दार्थ की जांच कर रहे है हमे आशा है कि हम जल्द ही किसी न’तीजे पर पहुँच जाएंगे।

आपको बता दे, तु’र्की और स’ऊदी अरब द्वारा इस मा’मले की काफी जांच के बाद बया’न जारी किया था । इसमें उन्होंने कहा था एक देश के एजें’टों इस उनके विचारों के लिए एक पत्र’कार की ह’त्या’ कर दी क्योंकि वह किसी तरह से अपने शादी के द’स्ता’वेज चाहते थे।

Leave a Comment